महिलाओं के लिए आसान नहीं होता ये काम , हर दसवीं महिला झेलती है दर्द

महिलाओं के लिए आसान नहीं होता ये काम , हर दसवीं महिला झेलती है दर्द

शारीरिक संबंध बनाना हर बार सुखद हो, ऐसा जरूरी नहीं है, खासतौर से महिलाओं के लिए ये कई बार आनंददायक नहीं होता है। ब्रिटेन में हाल ही में हुए एक अध्ययन के मुताबिक हर दस में से एक महिला के लिए सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाना दर्दनाक होता है।

Image result for ये नहीं है शारीरिक संबंध बनाने का सही समय, लोगों के मुताबिक नहीं मिलती संतुष्टि  जानते हैं वजह

इस सर्वे में करीब सात हजार महिलाओं को शामिल किया गया जिनकी उम्र 16 से 74 साल की थी। ब्रिटिश जर्नल ऑफ ऑब्स्ट्रिक्स एंड गायनेकॉलॉजी में ये सर्वे छपा है। इस अध्ययन के मुताबिक दस में से एक महिला को सेक्स के दौरान होने वाले दर्द की वजह डायसपारुनिया मानी गयी।

महिलाओं में ये परेशानी होना आम बात है और ये ज्यादातर 50 साल से ज्यादा की उम्र की महिलाओं में देखने को मिलती है। मगर इनके आलावा 16 साल से लेकर 24 साल की महिलाएं भी इससे प्रभावित नजर आती हैं। डॉक्टरों के अनुसार महिलाओं को होने वाली इस तकलीफ का चिकित्सकीय उपचार मुमकिन है।

शारीरिक संबंध बनाने के दौरान कई महिलाओं के लिए ये अनुभव अच्छा नहीं रहता और उन्हें दर्द महसूस होता है। इस दर्द के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे वैजाइनल ड्राइनेस, रफ सेक्स, फिजिकल होते समय चिंतित नजर आना और शारीरिक संबंध बनाते समय एंजॉय ना कर पाना। इंटिमेट रिलेशनशिप में दर्द महसूस करने के बाद महिलाओं में अलग अलग तरह का शारीरिक और मनोचिकित्सीय असर भी होता है। ये महिलाएं भावनात्मक रूप से भी प्रभावित महसूस करती हैं।

इस सर्वे की मदद से ये जानने में मदद मिली कि महिलाएं दर्द के डर की वजह से संबंध बनाने से ही कतराती हैं। इस सर्वे में शामिल होने वाली एक महिला जिनकी उम्र 62 वर्ष थी, उनके मुताबिक 40 साल की उम्र से ही उन्हें इस परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और इसकी वजह से उनकी सेक्सुअल लाइफ प्रभावित रही। उन्होंने बताया कि इस मामले में उन्होंने अपने डॉक्टर से सलाह ली। अब वो इस बात पर जोर देती हैं कि हर महिला को इसकी जानकारी होनी चाहिए की इस समस्या का इलाज संभव है। 50 साल की उम्र के बाद सबकुछ खत्म नहीं हो जाता है। ऐसी महिलाओं की कमी नहीं है जो इस मुद्दे पर बात करने से बचती हैं। इस सर्वे में हिस्सा लेने वाली एक तिहाई महिलाओं की मानें तो वे इन सबसे संतुष्ट नहीं हैं।