महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कुछ ही घंटों का समय है बाकि

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कुछ ही घंटों का समय है  बाकि

महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर कुछ ही घंटों का समय बाकि है व ऐसे में सियासी हलचल तेज हो गई है।जहां एक तरफ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) ने एक बार फिर विधायक दल की मीटिंग बुलाई है, वहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) नागपुर (Nagpur) से मुंबई (Mumbai) के लिए रवाना हो गए हैं। Image result for There is only a few hours left to form a government in Maharashtra.बताया जा रहा है कि गडकरी आज उद्धव से उनके आवास मातोश्री पर मुलाकात कर सकते हैं। वहीं शिवसेना (ShivSena) के वरिष्ठ नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने बोला कि भाजपा (BJP) चाहती है कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए। इसी के चलते जिन बातों पर चुनाव से पहले सहमति जताई गई थी उनको अब नहीं माना जा रहा है। राउत ने एक बार फिर सूबे में शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होने की बात पर जोर दिया।

फिर बैठक, निर्णय होने की उम्मीद
बताया जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने आज पार्टी विधायकों की मीटिंग अंतिम फैसला लेने को लेकर बुलाई है। शिवसेना आज महाराष्ट्र में सरकार बनाने व गठबंधन को लेकर निर्णय करेगी, साथ ही एनसीपी का साथ लेने के विकल्प पर भी चर्चा हो सकती है। बताते चलें कि इससे पहले शिवसेना ने गुरुवार को भी विधायकों की मीटिंग बुलाई थी जिसके बाद हॉर्स ट्रेडिंग के भय से सभी को एक होटल में ठहरा दिया गया था। वहीं शिवसेना प्रमुख के बेटे व वर्ली सीट से जीते आदित्य ठाकरे ने देर रात विधायकों से मुलाकात भी की थी। इस दौरान आदित्य ने करीब 90 मिनट तक विधायकों के साथ मीटिंग कर आने वाली रणनीति पर चर्चा की थी।

उद्धव को मनाने की पहल

सरकार बनाने में समय की कमी अब भाजपा के माथे पर भी चिंता की लकीरें खींच रही है। इसी के चलते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं। बताया जा रहा है कि उनके साथ भूपेंद्र यादव भी हैं। आज वे मातोश्री जाकर उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि इस दौरान वे ढाई-ढाई वर्ष के लिए मुख्यमंत्री के फॉर्मूले पर अड़े उद्धव को मनाने का कोशिश करेंगे व गठबंधन के तहत ही सरकार बनाने की अपील करेंगे। इसके साथ ही गडकरी महाराष्ट्र भाजपा के नेताओं से भी मुकालात करेंगे।




हम न झुके, न झुकेंगे
इसी बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने बोला कि भाजपा सूबे में राष्ट्रपति शासन लागू करना चाहती है। यदि ऐसा किया गया तो ये जनादेश का अपमान होगा। इसके साथ ही उन्होंने बोला कि यह अस्मिता की लड़ाई है व हम इसे जारी रखेंगे। उन्होंने बोला कि हम लड़ते रहे व लड़ते रहेंगे व जीतेंगे भी। इसके साथ ही उन्होंने बोला कि हमारा रुख स्पष्ट है व हमारी मांगे भी। वहीं उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए बोला कि जिसके पास बहुमत है वे अपनी सरकार बना सकते हैं।