बहन-भाई के रिश्ते को मजबूत करता है रक्षाबंधन

बहन-भाई के रिश्ते को मजबूत करता है रक्षाबंधन

रक्षाबंधन भाई बहन का त्‍योहार आ रहा है। हर भाई-बहन को इस त्‍योहार का इंतजार भी रहता है। बता दें कि इस साल रक्षाबंधन 15 अगस्‍त यान‍ि गुरुवार को है। ये बात भी सच है कि रक्षाबंधन ऐसा ही एक त्योहार है जो बहन-भाई के रिश्ते को मजबूत करता है। यह ऐसा रिश्ता है जो एक-दूसरे के प्रति विभिन्न जिम्मेदारियों-देखभाल के ईद-गिर्द घूमता है। वहीं ऐसा भी देखा गया हैं कि भाई रक्षाबंधन पर अक्सर असमंजस में रहते हैं कि बहन को गिफ्ट क्या दें। तो क्‍यों न जीवन भर बहनों की रक्षा करने का वादा करने वाले भाई इस रक्षाबंधन अपनी बहनों को कुछ ऐसा दे जो उनके जीवन को सुरक्षित कर दे। कुछ ऐसे उपहार दे जो उसे शायद आज काम नहीं आएगें पर उसके जीवन में अचानक परिस्थिति में जरूर काम आएगें। इस रक्षाबंधन पर आप अपनी बहन को कुछ फाइनेनशियल गिफ्ट दे सकते है जो उन्हें लंबे समय तक के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

Image result for अपनी बहनों को इस राखी में

सोने की खरीदारी करें

सोने की कोई भी चीज आप बहन को दे सकते हैं, चाहें तो सोने के गहनों में से कोई भी गहना या सोने का सिक्का भी दे सकते हैं। इस तरह का तोहफा देने पर आपकी बहन उन्हें पहनकर इस्तेमाल तो कर ही सकती हैं, साथ ही इनकी कीमत समय के साथ कम नहीं होती। सोने के भाव बढ़ने के साथ इनकी कीमत में भी वृद्धि होती है और विपरीत परिस्थिति में सोने के बदले में पैसे प्राप्‍त कर आर्थिक संकट से निपटा जा सकता है।

हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी

ये बात सच हैं कि भाई- बहन का रिश्‍ता काफी खूबसूरत होता हैं और चूंकि भाई पूरे जीवन के लिए अपनी बहन की देखभाल करने का वादा करते है। ऐसे में आप अपनी बहन के लिए एक पर्याप्त स्वास्थ्य बीमा खरीद सकते है। इस प्रकार की पॉलिसी उस समय बहुत काम आती है जब अचानक से कोई एक्सीडेंट हो जाता है। ऐसे में हेल्‍थ इंश्योरेंस हमारे लिए काफी जरुरी हो जाता है। इतना ही नहीं इसका एक फायदा यह भी है कि इससे हम मेडिकल खर्च से भी बच जाते है।

एसआईपी करें

हर कोई आज के समय में एसआईपी में न‍िवेश कर रहा है। एसआईपी में न‍िवेश करना वाकई अच्‍छा व‍िकल्‍प है। एसआईपी व्यक्ति की वित्तीय स्वतंत्रता को बढ़ाता है। आपका यह गिफ्ट बहन की उन इच्छाओं को पूरा कर सकता है जो अधूरी गई हों, मसलन लंबी विदेश यात्रा या कोई एजुकेशनल कोर्स जो वह करना चाहती हों, आदि।

क्या है एसआईपी: बता दें कि म्यूचुअल फंड कंपनियों ने यह सुविधा उन निवेशकों के लिए शुरू की है जो किसी म्यूचुअल फंड स्कीम में एकमुश्त बड़ी रकम निवेश नहीं कर सकते हैं। यह उन्हें छोटी मात्रा में एक निश्चित रकम तिमाही/मासिक आधार पर निवेश करने की सुविधा देता है। इसे 500 या 1,000 रुपए प्रति माह से शुरू किया जा सकता है। यदि निवेशक एसआईपी खाते में जमा होने वाली रकम को बढ़ाना चाहता है तो वह बाद में स्टेप-अप एसआईपी के जरिए इसे बढ़ा सकता है।

गोल्ड यूनिट व गोल्ड ईटीएफ गिफ्ट करें

गोल्ड यूनिट यानी असल सोने की जगह पर सोने की न्यूनतम मात्रा गिफ्ट कर सकते हैं। सोने की कीमत बढ़ने पर आपके ईटीएफ यूनिट की कीमत भी बढ़ेगी। जरूरत पड़ने पर आपकी बहन ईटीएफ यूनिट को बेचकर उसी के बराबर का सोना व सोने के गहने खरीद सकती है। बता दें कि यह एक म्यूच्यूअल फण्ड है, जिसमे हम पूंजी को गोल्ड में निवेश करते हैं। गोल्ड ईटीएफ फण्ड की नेट एसेट वैल्यू का निर्धारण सोने की कीमत के आधार पर होता है। आपको जानकर खुशी होगी की इसे घर बैठे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। इसमें 10 ग्राम या 1 ग्राम में भी निवेश कर सकते हैं गोल्ड ईटीएफ फण्ड में निवेश का एक अच्छा माध्यम हो सकता है। खासकर जो भाई अपनी बहन को कुछ सेविंग पर्पस से देना चाहते हो।