पीएम मोदी बताएंगे आज, भद्रासन करने के फायदे

पीएम मोदी बताएंगे आज, भद्रासन करने के फायदे

विश्व योग दिवस 21 जून को है. पिछली बार की तरह ही इस बार भी पीएम मोदी आम लोगों के साथ खुले आसमान के नीचे योग करेंगे. इस योग दिवस को किसी उत्सव की तरह मनाने के लिए पीएम मोदी लगातार प्रयासरत हैं. इसके लिए हर दिन उनके ट्विटर हैंडल पर एक योगासन से संबंधित फायदे व उसे करने की विधि एक विडियो के माध्यम से समझाई जाती है.

इस कड़ी में आज प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी हमें भद्रासन करने के ढंग व इसके फायदों के बारे में बता रहे हैं. यह आसन हमारे शरीर के साथ ही मन पर भी नियंत्रण करने का अच्छा उपायहै. जिन लोगों को किसी भी कार्य में ध्यान लगाने में कठिनाई आती हो, उन्हें यह आसन जरूर करना चाहिए.

भद्रासन करने के फायदे

-भद्रासन एक ध्यानात्मक आसन है. इसका प्रतिदिन एक्सरसाइज करने से मन की एकाग्रता बढ़ती है.

- भद्रासन से यादाश्त अच्छी होती है व दिमाग तेज होता है. यानी जल्दी सीखने व समझने की प्रक्रिया में मदद मिलती है.

-आंखों से संबंधित समस्याएं दूर होती हैं व आंखों की लाइट बढ़ाने में मदद मिलती है.

- पाचन संबंधी संमस्याएं दूर होती हैं व भूख बढ़ाने में मददगार है.

-भद्रासन फेफड़ों को मजबूती देता है व सांस पर नियंत्रण स्थापित करने में मदद करता है.

-भद्रासन शरीर को सुंदर व सुडोल बनाए रखने में मदद करता है. इससे बॉडी पोश्चर ठीक रखने में मदद मिलती है.

- घुटनों को मजबूत बनाता है व लंबे समय तक इसे करने पर घुटनों व जांघों से संबंधित परेशानियां आदमी को नहीं झेलनी पड़ती हैं.

-खास बात यह है कि इस आसन को करने से वज्रासन के भी फायदा शरीर को प्राप्त होते हैं.

भद्रासन के दौरान बरतें सावधानियां

- सबसे पहली बात गर्भवती स्त्रियों के लिए, आपको यह आसन देखने में सरल लगे इसका मतलब यह नहीं कि आप बिना किसी ट्रेनर की मदद या चिकित्सक की सलाह के इसे करना प्रारम्भ कर दें. परामर्श के बाद ही इसे करें.

- घुटनों में अगर दर्द की समस्या बनी हुई है तो इस आसन को न करें. जब दर्द अच्छा हो जाए तब लगातार इस आसन को करेंगे तो भविष्य में दर्द की पीड़ा से मुक्ति मिल सकती है.

- अगर पेट में किसी तरह की सूजन, दर्द या खिंचाव है तो जब तक यह समस्या अच्छा न हो जाए, तब तक इस आसन को न करें.

-अगर कमर दर्द की समस्या है या इस आसन को करने पर कमर की किसी तरह का तनाव, दर्द या खिंचाव होता है तो इस आसन को न करें.