पाकिस्‍तान के पीएम इमरान का नया कारनामा

पाकिस्‍तान के पीएम इमरान का नया कारनामा

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार ने एक और नया रिकॉर्ड कायम कर लिया है। यह रिकॉर्ड हालांकि सिरदर्द बढ़ाने वाला है। आर्थिक संकट से जूझ रहे पाक के पीएम इमरान और उनकी सरकार ने पहले ही कार्यकाल में कर्ज का आंकड़ा 7509 अरब रुपए पहुंचा दिया है। पाकिस्‍तान में यह पहली बार है जब किसी सरकार के पहले कार्यकाल में कर्ज का आंकड़ा इतना बढ़ गया है। पाक मीडिया ने प्रधानमंत्री कार्यालय के हवाले से ये आंकड़ें जारी किए हैं। यह हालत तब है जब पिछले वर्ष इमरान, देश को संकट से निकालने के वादे के साथ सत्‍ता पर काबिज हुए थे।

Image result for पाकिस्‍तान के पीएम इमरान का नया कारनामा

बैंक ने भेजे पीएमओ को आंकड़ें

पाकिस्‍तान की मीडिया में आई खबरों के मुताबिक स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान की तरफ से ये आंकड़ें प्रधानमंत्री ऑफिस को भेजे गए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक अगस्‍त 2018 से अगस्‍त 2019 तक सरकार ने विदेशी सोर्सेज से 2,804 अरब रुपए मांगे तो वहीं 4,705 अरब घरेलू स्‍त्रोतों से लिए गए। स्‍टेट बैंक के डाटा के मुताबिक पाक के सार्वजनिक कर्ज में 1.43 प्रतिशत तक का इजाफा देखा गया और यह इस वित्‍त वर्ष के पहले दो माह में ही हुआ।

वित्‍तीय घाटे में भी इजाफा

प्रांतीय सरकार का कर्ज बढ़कर 32,240 अरब पर पहुंच गया है। जबकि पिछले वर्ष अगस्‍त में यह 24,732 अरब था। सरकार का टैक्‍स कलेक्‍शन भी उस हिसाब से नहीं हुआ है जैसा सोचा गया था। पहली तिमाही में टारगेट एक खरब का रखा गया था जबकि यह 960 अरब तक ही पहुंच सका। पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट के मुताबिक इमरान की सरकार के कार्यकाल में वित्‍तीय घाटा भी नई ऊंचाईयां छू रहा है। वित्‍तीय वर्ष वर्ष 2018-2019 में पाक के वित्‍तीय घाटे ने पिछले तीन दशकों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।