जी-20 शिखर सम्मेलन से ठीक पहले ट्रंप के प्रोटोकॉल प्रमुख सीन लॉलर के अपना पद छोड़ने की घोषणा के तुरंत बाद...

जी-20 शिखर सम्मेलन से ठीक पहले ट्रंप के प्रोटोकॉल प्रमुख सीन लॉलर के अपना पद छोड़ने की घोषणा के तुरंत बाद...

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंपको एक दिन में 2 बड़े झटकों का सामना करना पड़ा। जापान में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन से ठीक पहले ट्रंप के प्रोटोकॉल प्रमुख सीन लॉलर के अपना पद छोड़ने की घोषणा के तुरंत बाद ही अमेरिकी सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा (सीबीपी) एजेंसी के कार्यवाहक आयुक्त ने टेक्सास में प्रवासी बच्चों की हिरासत की चिंताजन स्थितियों पर स्वर मुखर होने के बाद मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। जॉन सैंडर्स को दो माह पहले ही इस पद पर नियुक्त किया गया था। उनकी जगह अब मार्क मॉर्गन सीमा प्रमुख का पदभार संभालेंगे।



बतादें किलॉलर अपने कर्मचारियों के प्रबंधन से जुड़ी एक जांच का सामना कर रहे हैं। लॉलर का पद विदेश विभाग में राजदूत के पद के समतुल्य था।अधिकारी ने नाम न जाहिर करने का अनुरोध किया और इस बारे में और कोई जानकारी नहीं दी। प्रोटोकॉल प्रमुख के पास राष्ट्रपति की विदेशी नेताओं से मुलाकात के दौरान औपचारिकताओं को संभालने की जिम्मेदारी होती है। अभी यह तत्काल पता नहीं चल पाया है कि बुधवार से शुरू हो रहे ट्रंप के जापान और दक्षिण कोरिया के दौरे में यह जिम्मेदारी कौन संभालेगा।

उधर इस्फातीा देने वालेअमेरिकी सीमा प्रमुखसैंडर्स ने एक पत्र लिख कर कहा कि उन्होंने सीबीपी प्रमुख के पद से पांच जुलाई को इस्तीफा देने का निर्णय किया है। सैंडर्स की विदाई ऐसे समय में हो रही है जब टेक्सास के क्लिंट में एक सीमा गश्त प्रतिष्ठान के क्षमता से अधिक भरे होने और बच्चों को हिरासत में रखने के स्थान में भीषण गंदगी होने का खुलासा हुआ है।

यह अमेरिका मेक्सिको की सीमा पर बड़ी संख्या में गिरफ्तारियों के कारण घटते संसाधनों अथवा बढ़ते बोझ की ओर इशारा करता है। अल पासो के निकट स्थित इस प्रतिष्ठान में वकीलों, चिकित्सकों और अन्य लोगों के दल ने यात्रा की थी और वहां हालात का खुलासा किया। कम से कम 250 बच्चों को क्लिंट से सोमवार को स्थानांतरित किया गया है। लेकिन सीबीपी के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि कुछ 100 बच्चों को वापस भेजा जा रहा है। सैंडर्स ने हालांकि अपने इस्तीफे के कारण स्पष्ट नहीं किया है।