वर्ल्ड कप-2019 में हेडिंग्ले मैदान पर होगा अफगानिस्तान से पाकिस्तान का सामना

वर्ल्ड कप-2019 में हेडिंग्ले मैदान पर होगा अफगानिस्तान से पाकिस्तान का सामना

वर्ल्ड कप-2019 में हेडिंग्ले मैदान पर शनिवार को पाकिस्तान का सामना अफगानिस्तान से होगा. सेमीफाइनल की रेस में बने रहने के लिए पाकिस्तान को इस मैच में सिर्फ जीत चाहिए. तलवार की धार पर चल रहे कप्तान सरफराज अहमद के सामने बड़ी चुनौती है. मौजूदा वर्ल्ड कप में पाकिस्तान को बाकी बचे अपने दोनों मैच जीतने होंगे. इसके बाद उसे 5 जुलाई को बांग्लादेश से भिड़ना है. यह मुकाबला भारतीय समयानुसार दोपहर 3.00 शुरू होगा.

Image result for अफगानिस्तान से पाकिस्तान का सामना

क्या चाहे पाकिस्तान-

पहले तो उसे बाकी बचे अपने दोनों मैच जीतने होंगे. साथ ही उस समीकरण पर नजर डालते हैं, जो उसे सेमीफाइनल में पहुंचाएगा.

- इंग्लैंड बाकी बचे अपने 2 मैचों में से 1 हार जाए.

- बांग्लादेश भी बाकी बचे अपने 2 मैचों में से 1 हार जाए

पाकिस्तान ने अपने पिछले मैच में न्यूजीलैंड को मात दी थी. उस जीत से पाकिस्तान का हौसला बढ़ा है. वहीं, अफगानिस्तान के लिए इस टूर्नामेंट में कुछ बचा नहीं है. इस टूर्नामेंट में अफगानिस्तान से चमत्कार की उम्मीद किसी ने की नहीं थी, लेकिन फिर भी लगा था कि यह टीम एक-दो बड़े उलटफेर कर सकती है. अब तक अफगानिस्तान ने सात मैच खेले हैं और सभी में हार ही उसे नसीब हुई है.

वह हालांकि अभी भी किसी भी टीम के लिए खतरा है. साथ ही उसमें दम है कि वह पाकिस्तान के रास्ते में रोड़ा बन जाए, जो वह बेशक करना चाहेगी. यह आसान तो नहीं होगा.

पाकिस्तान की गेंदबाजी के सामने अफगानी बल्लेबाजों को टिक पाना मुश्किल सा लग रहा है. अब तक मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज ही टीम की गेंदबाजी की मुख्य धुरी लग रहे थे, लेकिन पिछले मैच में शाहीन आफरीदी ने तीन विकेट लेकर कीवी टीम की बल्लेबाजी को असहाय कर दिया था.

पाकिस्तान की बल्लेबाजी में बाबर आजम बड़ा नाम हैं. बाबर ने पिछले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहतरीन पारी खेल शतक जमाया था और टीम को जीत दिलाई थी. हारिस सोहेल ने भी अपना लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया था. इन दोनों के अलावा मोहम्मद हफीज भी बड़ी पारी खेल सकते हैं.

अफगानिस्तान की गेंदबाजी की बात की जाए तो उसके स्टार स्पिनर राशिद खान का जादू इस विश्व कप में न के बराबर चला है. कुछ मौकों पर मोहम्मद नबी और मुजीब उर रहमान ने जरूर अच्छा किया है, लेकिन यह स्पिन तिकड़ी वो प्रभाव छोड़ती नहीं दिखी जिसके लिए वो जानी जाती है.

टीमें-

अफगानिस्तान: गुलबदीन नाइब (कप्तान), नूर अली जादरान, असगर स्टानिकजाई, हजरतुल्लाह जाजई, हश्मतुल्लाह जादरान, राशिद खान, दौलत जादरान, अफताब आलम, हामिद हसन, मुजीब उर रहमान, रहमत शाह, समीउल्लाह शिनवारी, मोम्मद नबी, मोहम्मद शाहजाद, इकराम अली (विकेटकीपर).

पाकिस्तान: सरफराज अहमद (कप्तान/विकेटकीपर), फखर जमान, इमाम उल हक, बाबर आजम, आसिफ अली, शोएब मलिक, मोहम्मद हफीज, हारिस सोहेल, शादाब खान, इमाद वसीम, शाहीन आफरीदी, हसन अली, मोहम्मद हसनेन, वहाब रियाज, मोहम्मद आमिर.