डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर अपने ऊपर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को नकारते हुए कहा...

डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर अपने ऊपर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को नकारते हुए कहा...

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर अपने ऊपर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को नकारते हुए कहा कि उन पर आरोप लगाने वाली टीवी शो होस्ट व मैगजीन स्तंभ लेखिका 'उनके टाइप की नहीं' हैं। महिला 1990 के दशक में एक टेलीविजन शो होस्ट कर चुकी हैं।

ट्रंप ने कहा कि एक मैनहट्टन डिपार्टमेंट स्टोर में कथित हमले के बारे में ई. जीन कैरोल 'पूरी तरह से झूठ बोल रही हैं।'

राष्ट्रपति ने द हिल समाचार पत्र से बातचीत में कहा, 'मैं पूरे सम्मान के साथ यह बात कहना चाहूंगा कि पहली बात तो यह है कि वह मेरे टाइप की नहीं हैं। दूसरी ऐसा कभी नहीं हुआ। ऐसा कभी नहीं हुआ, ठीक है?'

इससे पहले ट्रंप ने कैरोल पर आरोप लगाया, 'वह अपनी नई किताब को बेचने की कोशिश कर रही हैं और इसके लिए झूठी खबरें फैला रही हैं।'

75 वर्षीय कैरोल ने न्यूयॉर्क पत्रिका में शुक्रवार को प्रकाशित एक लेख में पिछले शुक्रवार को आरोप लगाया था।

लेखिका ने बाद में कहा कि वह ट्रंप के खिलाफ आरोपों को आगे उठाने पर विचार करेंगी। वह राष्ट्रपति पर यौन दुराचार का आरोप लगाने वाली 16वीं महिला हैं। ट्रंप ने उनके खिलाफ सभी आरोपों से इनकार किया है।

लेख में महिला ने लिखा है कि 1995 के अंत में या 1996 की शुरुआत में बर्गडॉर्फ गुडमैन डिपार्टमेंट स्टोर में ट्रंप से उनकी मुलाकात हुई थी।

महिला ने कहा कि वह उन्हें देखते ही पहचान गईं कि वह 'रियल एस्टेट टाइकून' ट्रंप हैं।

ट्रंप ने उन्हें कहा कि वह वहां 'एक लड़की' के लिए उपहार खरीदने आए हैं।

कैरोल ने कहा कि ट्रंप को पता था कि वह एक टीवी एगनी आंटी थी और दोनों ने इस दौरान मजाक किया।

उन्होंने एक दूसरे को कुछ अधोवस्त्रों को पहनकर देखने के लिए प्रोत्साहित भी किया।

कैरोल ने आरोप लगाया कि वे फिर एक ड्रेसिंग रूम में गए, जहां महिला ने ट्रंप पर दुष्कर्म का आरोप लगाया।

महिला का दावा है कि 'भारी संघर्ष' के बाद वह ट्रंप को धक्का देने में कामयाब रही।

व्हाइट हाउस में बातचीत के दौरान कैरोल की आने वाली किताब में अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से ट्रंप ने इनकार किया।

उन्होंने अपने आरोपों के विवरण के साथ न्यूयॉर्क पत्रिका में कैरोल के साथ चित्रित होने के बावजूद उन्हें जानने से भी इनकार किया।

उन्होंने कहा, 'यह बहुत ही भयानक है, जब लोग इस तरह की टिप्पणियां करते हैं।'