देवउठनी एकादशी आज 8 नवंबर शुक्रवार के दिन मनाई जा रही, जाने इसका महत्व

देवउठनी एकादशी आज 8 नवंबर शुक्रवार के दिन मनाई जा रही, जाने इसका महत्व

देवउठनी एकादशी (Dev Uthani Ekadashi) आज 8 नवंबर शुक्रवार के दिन मनाई जा रही है। एक महीने में दो एकादशी तिथियां पड़ती हैं। एक एकादशी कृष्ण पक्ष में पड़ती है व एक एकादशी शुक्ल पक्ष में पड़ती है। कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली एकादशी बहुत ज्यादा जरूरी होती है। इसी दिन देवउठनी एकादशी (Dev Uthani Ekadashi) मनाई जाती है। मान्यता है कि देवशयनी एकादशी के दिन से भगवान विष्णु चार महीने की योगनिद्रा के बाद देवउठनी एकादशी के दिन जागते हैं। जब तक वो निद्रा में रहते हैं उस समय को शुभ कार्य करने के लिए उचित नहीं माना जाता है। यही वजह है कि उनकी जागने पर यानी कि देवउठनी एकादशी के दिन मांगलिक काम चार माह बाद फिर से प्रारम्भ हो जाते हैं। आइए जानते हैं कि क्या है भगवान विष्णु के जागने का शुभ समयRelated image

देवउठनी एकादशी तारीख व शुभ मुहूर्त:
देवउठनी एकादशी 8 नवंबर 2019, शुक्रवार के दिन यानी कि कल है।

एकादशी तिथि आज 07 नवंबर 2019 की प्रातः काल 09 बजकर 55 मिनट से ही प्रारम्भ हो चुकी है।
कल यानी कि 08 नवंबर 2019 को दोपहर 12 बजकर 24 मिनट तक एकादशी तिथि का समाप्ति हो जाएगा।


इस दिन से जुड़ी मान्यता:
मान्यता है कि देवउठनी एकादशी के दिन ही भगवान विष्णु चार महीने की योगनिद्रा के बाद जागते हैं। इसी दिन शालिग्राम रूप से मां तुलसी के पौधे से उनका शादी होता है। देवउठनी एकादशी को तुलसी शादी उत्सव भी बोला जाता है। देवउठनी एकादशी के बाद सभी तरह के शुभ काम प्रारम्भ हो जाते हैं।