केंद्र में दोबारा से भाजपा की सत्ता आने व केंद्रीय गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार जम्मू और कश्मीर के भ्रमण पर जाएंगे अमित शाह 

केंद्र में दोबारा से भाजपा की सत्ता आने व केंद्रीय गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार जम्मू और कश्मीर के भ्रमण पर जाएंगे अमित शाह 

केंद्र में दोबारा से भाजपा की सत्ता आने व केंद्रीय गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार अमित शाह जम्मू और कश्मीर के भ्रमण पर जाएंगे। अमित शाह 26 जून यानि की आज से जम्मू और कश्मीर के दो दिवसीय भ्रमण पर रहेंगे। तय प्रोग्राम के अनुसार, शाह 30 जून को एक दिन के लिए कश्मीर घाटी जाने वाले थे, लेकिन बजट सत्र होने के कारण वह पहले ही कश्मीर का दौरा कर रहे हैं।

Image result for आज से 'मिशन कश्मीर' पर अमित शाह, अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा की करेंगे समीक्षा

घाटी के हालातों पर करेंगे चर्चा
अमित शाग, गवर्नर के साथ प्रदेश में हाल की जम्मू और कश्मीर की सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा करेंगे। इससे पहले, अमित शाह 30 जून को एक दिन के लिए घाटी का दौरा करने वाले थे।वह इस यात्रा के दौरान भाजपा के कार्यकर्ताओं व पंचायत सदस्यों को अलग से भी संबोधित करेंगे। सूत्रों के मुताबिक़ वह जम्मू और कश्मीर के गवर्नर सत्य पाल मलिक से भी बेठक करेंगे व गवर्नर के साथ प्रदेश में मौजूदा सुरक्षा हालातों पर चर्चा करेंगे।

राज्य की जनता को शाह की यात्रा से उम्मीद!
कश्मीर में गृहमंत्री के यात्रा को लेकर कश्मीर के लोगों ख़ासकर यहां की पॉलिटिक्स दलों को बहुत ज्यादा उम्मीद बंधी है। प्रदेश के पीडीपी के प्रवक्ता ने बोला कि कश्मीर में अब तक काफ़ी गृह मंत्रियों ने भ्रमण किए हैं। शाह भारी समर्थन से सरकार में आए हैं व उनसे काफ़ी उम्मीद हैं, वो प्रदेश के मौजूदा हालातों को देखकर कोई आशावादी क़दम उठाएंगे। साथ ही वार्ता का दरवाज़ा भी खुलेगा ताकि कश्मीर के हालातों में सुधार होगा।

अमरनाथजी की गुफा के करेंगे दर्शन
सूत्रों ने कहा, "इस दौरान अमित शाह श्री अमरनाथजी गुफा मंदिर भी जाएंगे व वहां पूजा-अर्चना करेंगे। " इस साल अमरनाथ यात्रा पहली जुलाई से प्रारम्भ होकर 15 अगस्त तक चलेगी।बीजेपी सूत्रों ने बोला कि शाह गुरुवार को पार्टी नेताओं, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधिमंडलों, मुख्यधारा की पार्टियों के नेताओं, पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों व पंचायत सदस्यों से मुलाकात करेंगे।

यह पूछे जाने पर कि केंद्रीय गृहमंत्री के समक्ष क्या कोई खास मांग रखेंगे, एक वरिष्ठ बीजेपी नेता ने आईएएनएस से कहा, "हम हमेशा प्रदेश स्तर के मामले उठाते रहे हैं। पार्टी नेतृत्व से मुलाकात के दौरान हम अन्य समस्याएं भी उठाएंगे। हम यह मांग करेंगे कि विधानसभा सीटों का परिसीमन नए सिरे से कराया जाए। " शाह का घाटी दौरा पहले 30 जून को ही तय था, लेकिन केंद्रीय बजट संबंधी कार्यो में व्यस्तता के कारण प्रोग्राम में परिवर्तन किया गया।