एयरलाइन ने लापरवाही के लिए मांगी माफी, जाने वजह

एयरलाइन ने लापरवाही के लिए मांगी माफी, जाने वजह

नीदरलैंड के एम्सटर्डम स्थित शिफोल हवाई अड्डे पर आकस्मित उस वक्त अफरा-तफरी व हड़कंप मंच गया, जब विमान में लगे हाईजैक अलार्म बजने लगा.Image result for यूरोप का तीसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट

दरअसल, बुधवार को शिफोल हवाई अड्डे पर एक पायलट ने गलती से विमान में लगे हाईजैक अलार्म को बजा दिया. अलार्म के बजते ही फौरन वहां पर सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया व एक बड़ा सुरक्षा ऑपरेशन चलाया गया.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना स्पैनिश एयरलाइन एयर यूरोपा में घटी, जो मैड्रिड की ओर अपनी उड़ान भरने वाली थी. हालांकि जब यह बात सामने आई कि पायलट ने गलती से हाईजैक अलार्ट बजा दिया, उसके बाद एयरलाइंस की ओर से माफी मांग ली गई.

एयरलाइन ने लापरवाही के लिए मांगी माफी

एयरपोर्ट में हुई इस गलती को लेकर एयरलाइन ने माफी मांग ली. एयरलाइन ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'गलत अलार्म. एम्सटर्डम-मैड्रिड की उड़ान में दोपहर को गलती से अलार्म सक्रिय हो गया, एक चेतावनी जो हवाई अड्डे पर अपहर्ताओं के प्रोटोकॉल को ट्रिगर करती है. कुछ नहीं हुआ है, सभी यात्री सुरक्षित हैं व जल्द ही उड़ान भरने की प्रतीक्षा कर रहे हैं. हम गहराई से माफी मांगते हैं.' डच मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि विमान में 27 यात्री सवार थे.

एम्सटर्डम में फंसे पैसेंजर्स को 'एयरलिफ्ट' करेगा जेट एयरवेज

इस घटना के बाद एयरपोर्ट के इर्द-गिर्द की जो फोटोज़ सामने आई वह दंग करने वाली है. तस्वीरों व वीडियों में दिखाई दे रहा है कि विमान के चारों ओर पुलिस की गाड़ियां व एंबुलेंस खड़े हैं.

यूरोप का तीसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट

इधर एयर यूरोपा ने ट्वीट करते हुए लिखा 'हवाई अड्डे पर किडनैपिंग से संबंधित सभी प्रोटोकॉल प्रारम्भ किए गए हैं. वैसे कुछ भी नहीं हुआ है, सभी यात्री सुरक्षित हैं व जल्द उड़ान भरने के लिए इंतजार कर रहे हैं. हमें खेद है'.

गौरतलब है कि नीदरलैंड की राजधानी स्थित शिफोल हवाई हवाई अड्डा लंदन के हीथ्रो व पेरिस चार्ल्स डी गॉल हवाई अड्डा के बाद यूरोप का तीसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट है.

शिफोल की वेबसाइट पर प्रकाशित आंकड़ों के मुताबिक, हर महीने लगभग 6.5 मिलियन लोग इस हवाई अड्डे से गुजरते हैं.