वाड्रा के बाद भाजपा ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पी चिदंबरम, कार्ति चिदंबरम, सहित कई कांग्रेस नेताओं पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

वाड्रा के बाद भाजपा ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पी चिदंबरम, कार्ति चिदंबरम, सहित कई कांग्रेस नेताओं पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में जब अपना चुनावी अभियान शुरू किया था तो उस वक्त दामाद श्री नाम की सीडी पार्टी की ओर से जारी की गई थी, जिसमे पार्टी की ओर से रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ चल रहे आरोपों को लेकर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा गया था। वाड्रा के बाद भाजपा ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पी चिदंबरम, कार्ति चिदंबरम, सहित कई कांग्रेस नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए और उनके खिलाफ कार्रवाई की बात कही। लेकिन पांच साल के कार्यकाल के बाद जब रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं हुई तो कांग्रेस पार्टी ने भाजपा सरकार पर हमलावर रुख अख्तियार किया।

Image result for पी चिदंबरम की गिरफ्तारी ने सरकार के लिए खोला बड़ा दरवाजा

दरअसल 2019 के लोकसभा चुनाव अभियान में कांग्रेस लगातार इस तर्क से अपने नेताओं का बचाव करती रही कि अगर उसके नेताओं ने कुछ गलत किया है तो आखिर उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हुई और क्यों उनकी गिरफ्तारी नहीं की गई है। कांग्रेस पार्टी ने सख्त लहजा अख्तियार करते हुए कार्ति चिदंबरम को लोकसभा चुनाव में टिकट दिया, रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ चल रही जांच के बावजूद उनकी पत्नी प्रियंका गांधी को पार्टी का महासचिव बनाया, हालाकिं रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि जबतक उनके खिलाफ चल रहे तमाम जांच खत्म नहीं हो जाती है वह सक्रिय राजनीति में नहीं आएंगे।

आखिरकार गिरफ्तार हुए चिदंबरम

पिछले दो दिनों से सीबीआई और ईडी लगातार पी चिदंबरम की तलाश कर रही थी, जिसके बाद आखिरकार बुधवार रात को पी चिदंबरम को पुलिस सने बेहद नाटकीय अंदाज में गिरफ्तार कर लिया। जिस तरह से हाई कोर्ट ने चिदंबरम को गिरफ्तारी से बचने के लिए अंतिम राहत देने से इनकार कर दिया, उसके बाद से चिदंबरम की मुश्किलें काफी बढ़ गई थी। सीबीआई लगातार चिदंबरम के ठिकानों पर छापेमारी कर रही थी। यही नहीं सीबीआई ने चिदंबरम के घर पर दो घंटे के भीतर हाजिर होने का नोटिस भी लगा दिया था।