रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) में बनता है इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस

रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) में बनता है इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस

अगर आपके पास इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस है, तो आप पूरे हिंदुस्तान में गाड़ी चला सकते हैं. लेकिन अगर आप विदेश में गाड़ी चलाना चाहते हैं, तो आपको इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना होगा. इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस को इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट भी कहा जाता है. यह इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस की तरह ही होता है.

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस कोई स्पेशल लाइसेंस नहीं होता है. इसको सिर्फ कई भाषाओं में ट्रांसलेट कर दिया जाता है. रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) में आवेदन करने के पांच दिन के अंदर ही इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाता है. इसके बाद आप अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया समेत 150 से ज्यादा देशों में वाहन रेंट पर ले सकते हैं और ड्राइविंग कर सकते हैं.

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस का इस्तेमाल विदेश में पहचान पत्र के रूप में भी किया जा सकता है. आपको बता दें कि इंटरनेशनल ड्राइविंग और रोड ट्रैफिक को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कानून हैं. 1949 के जेनेवा कंवेंशन ऑन रोड एंड मोटर ट्रांसपोर्ट और 1968 के वियना कंवेंशन ऑन रोड ट्रैफिक में इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस और इंटरनेशनल रोड ट्रैफिक को लेकर व्यवस्था की गई है.

ऐसे बनवाएं इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के मुताबिक इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट उसको जारी किया जाता है, जिसके पास भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस हो. साथ ही वह भारत का निवासी हो. इसका मतलब यह है कि अगर आपके पास पहले से कोई ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है और आप भारत के निवासी नहीं हैं, तो आपको इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा.

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अपने क्षेत्र के रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (RTO) में आवेदन करना होता है. इस आवेदन में आपको जिन देशों में गाड़ी चलाना है, उनका नाम और वहां रहने की अवधि का जिक्र करना होता है.

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए जरूरी दस्तावेज

1. इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने वाले के पास इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए.

2. आवेदन के साथ 3 पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ लगाई जाती हैं.

3. इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन के साथ पासपोर्ट, वीजा और सत्यापन के लिए एयर टिकट की फोटो कॉपी लगानी होता है. अगर जिन पड़ोसी देशों में जाने के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है, तो उसको लगाने की जरूरत नहीं होगी. अगर आप फ्लाइट से नहीं जाते हैं, तो आपको एयर टिकट की फोटो कॉपी लगाने की भी जरूरत नहीं होती है.

4. इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए फॉर्म 4A भरना होता है.

5. इसके अलावा इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए फॉर्म 1A भरना होता है. यह एक मेडिकल सर्टीफिकेट होता है, जिस पर डॉक्टर के हस्ताक्षर होते हैं.