रिटायरमेंट सेविंग के लिए इन 4 स्कीम से मिलेगा बड़ा फाएदा, पढ़े पूरी खबर

रिटायरमेंट सेविंग के लिए इन 4 स्कीम से मिलेगा बड़ा फाएदा, पढ़े पूरी खबर

आमतौर पर लगभग सभी युवा अपनी 25 साल की आयु से कमाने की आरंभ करते हैं व रिटायरमेंट की आयु तक कमाते हैं. रिटायरमेंट के लिए सेविंग करना एक बहुत ज्यादा लंबा प्रोसेस है. जब भी कोई आदमी रिटायरमेंट के लिए प्लानिंग करने का विचार करता है तो वह ऐसी निवेश स्कीम देखता है जो सुरक्षित हो व अधिक ब्याज दर की पेशकश करती हो. सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम (SCSS), पीएम वय वंदना योजना (PMVVY), नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS), एंप्लॉई प्रोविडेंट फंड (EPF) आदि स्कीम रिटायरमेंट के लिए बेस्ट हैं.

यहां हम इन चारों स्कीम के विशेषता के बारे में बात करेंगे:

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS)

वरिष्‍ठ नागरिकों के निवेश के लिए एक अच्‍छी योजना है. इस योजना पर वर्तमान में 8.7 फीसद ब्‍याज मिल रहा है. इस योजना की मैच्योरिटी 5 वर्ष पर होती है, जिसे 3 वर्ष तक वबढ़ाया जा सकता है. इस स्कीम में अधिकतम 15 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं.

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY)

इस स्कीम में अधिकतम 15 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं. PMVVY को औनलाइन या ऑफलाइन दोनों उपायों से खरीदा जा सकता है. इस पॉलिसी का टर्म 10 वर्ष का होता है. इस स्कीम में न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपये प्रति माह है व अधिकतम 10,000 रुपये प्रति माह है. इस पॉलिसी के तीन वर्ष सारे होने के बाद कर्ज़ लिया जा सकता है जो कि कुल अमाउंट का 75 फीसद होने कि सम्भावना है.

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS)

एनपीएस अकाउंट दो प्रकार के होते हैं. एनपीएस टियर-I अकाउंट लॉक इन पीरियड के साथ आता है वहीं एनपीएस टियर-II अकाउंट ऑप्शनल लॉक इन पीरियड के साथ आता है. इस सेविंग स्कीम में सदस्य 2 लाख रुपये तक पर कर में छूट के लिए सेक्शन 80 सीसीडी (1) व 80 सीसीडी (1बी) के तहत क्लेम कर सकता है. इस पर मिलने वाला ब्याज बाजार लिंक्ड होता है.

एंप्लॉई प्रोविडेंट फंड (EPF)

किसी भी 20 से अधिक संस्थान वाले कर्मचारियों की सैलरी से 12.5 फीसद राशि पीएफ में जमा की जाती है व उतना ही सहयोग नियोक्ता की ओर से भी दिया जाता है. यह अमाउंट रिटायरमेंट के लिए कार्य आता है. 1 माह बेरोजगार रहने की स्थिति में इससे 75 फीसद अमाउंट निकाला जा सकता है व 2 माह बेरोजगार रहने पर 25 फीसद भी निकाला जा सकता है.वित्त साल 2018-19 के लिए ईपीएफ पर 8.65 फीसद प्रति साल का ब्याज दर तय किया गया है.