स्कूल के लिए निकले थे नहीं लौटे घर, पुलिस ने जारी की लापता बच्चों की तस्वीर

स्कूल के लिए निकले थे नहीं लौटे घर, पुलिस ने जारी की लापता बच्चों की तस्वीर

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में तीन सगे भाई-बहनों के लापता होने के बाद से ही शहर में हड़कंप मचा हुआ है. ग्वालियर के महाराजपुर इलाके में तीनों बच्चे स्कूल के लिए निकले थे लेकिन घर वापस नहीं लौटे. पुलिस के मुताबिक तीनों लापता बच्चों की उम्र 8, 14 और 11 वर्ष है.

लापता बच्चों में आर्यन की उम्र 8 वर्ष है, वैशाली की उम्र 11 साल है और वैष्णवी की उम्र 14 साल की है. वैशाली आठवीं में पढ़ती है, वहीं वैष्णवी नौवीं कक्षा की छात्रा है. ग्वालियर पुलिस ने तीनों लापता बच्चों की तस्वीरें भी जारी कर दी है. पुलिस ने जनता से अपील की है कि लापता बच्चे जहां भी दिखे, तत्काल पुलिस को सूचित किया जाए.

ग्वालियर के सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस रवि भदौरिया ने भी इस संबंध में बयान दिया है. उन्होंने कहा कि लापता बच्चों के पिता प्रेम नारायण ने पुलिस में बुधवार को शिकायत दर्ज कराई है. बच्चे स्कूल गए थे, जिसके बाद नहीं लौटे. बच्चों के स्कूलों में जांच कराई गई. स्कूल प्रशासन का कहना है कि बच्चे स्कूल ही नहीं आए.'

पुलिस का कहना है कि बच्चों को आखिरी बार रेलवे स्टेशन पर देखा गया था. पुलिस ने कहा, 'हमने शहर के 7 अलग-अलग इलाकों में सीसीटीवी फुटेज की जांच की है. बच्चों को रेलवे स्टेशन के पास देखा गया है. देखा जा रहा है कि बच्चे अपनी इच्छा से वहां खड़े हैं. लेकिन इस संबंध में कुछ भी नहीं कहा जा सकता है, जब तक बच्चे मिल न जाएं.'

भिंड से प्रेम नारायण ग्वालियर तीनों बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए ग्वालियर आए थे. पुलिस के सामने उन्होंने रोते हुए कहा, 'पुलिस कह रही है कि बच्चे अपनी इच्छा से गए होंगे, लेकिन मैंने हर दोस्त और रिश्तेदार के यहां पूछताछ की. हमारे बच्चे कहीं नहीं हैं. बच्चे कहीं नहीं मिल रहे हैं.'

वहीं ग्वालियर पुलिस का दावा है कि रेलवे पुलिस को बच्चों के लापता होने के संबंध में सूचना दे दी गई है. अलग-अलग रेलवे स्टेशनों पर सीसीटीवी फुटेज खंगाली तलाशी जा रही है.

यह घटना ऐसे वक्त में हुई है जब हाल ही में बच्चा चोरी गैंग के बारे में अफवाह के चलते कई संदिग्धों की पिटाई के मामले सामने आ चुके हैं. अफवाह के बाद भीड़ बौखलाहट में संदिग्धों पर हमला कर रही है, जिससे कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. इसी बीच तीनों बच्चों के लापता होने के बाद लोगों में बेचैनी बढ़ गई है.