इंजीनियर ने न्यायालय से सरकार को मांझे पर रोक के लिए आदेश जारी करने का किया अनुरोध

इंजीनियर ने न्यायालय से सरकार को मांझे पर रोक के लिए आदेश जारी करने का किया अनुरोध

मल्टीनेशनल कंपनी में कार्य करने वाले एक इंजीनियर ने चाइनीज मांझे के विरूद्ध मोर्चा खोल दिया है. इस इंजीनियर ने दिल्ली हाई कोर्ट में चाइनीज मांझे पर रोक के लिए जनहित याचिका दायर की है. मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल एवं न्यायमूर्ति सी हरीशंकर की पीठ चाइनीज मांझे को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगी. यह जनहित याचिका इंजीनियर मोहित घालयान ने अपने अधिवक्ता ऋषिपाल सिंह के माध्यम से दायर की है. याचिका में इंजीनियर ने न्यायालय से सरकार को मांझे पर रोक के लिए आदेश जारी करने का अनुरोध किया है.

खुद हुए शिकार तो समाज को बचाने निकले

पश्चिम विहार में रहने वाले मोहित घालयान साल 2012 में अपनी मोटरसाइकिल से जा रहे थे. रास्ते में उनकी गर्दन में चाइनीज मांझा फंस गया. वह बुरी तरह जख्मी हो गए थे. गर्दन में आठ टांके लगे. इसके बाद वह कई वर्ष तक घर से मोटरसाइकिल पर बाहर निकलने से डरते रहे. लेकिन पिछले दिनों मांझे की वजह से कई ऐसे भयावह हादसे हुए जिससे उन्हें इसके विरूद्ध प्रयत्न का निर्णय लेना पड़ा.

पिछले दिनों हुए हादसे

15 अगस्त 2019 : पीरागढ़ी फ्लाईओवर पर युवक की गर्दन में चाइनीज मांझा फंसा, मौके पर मृत्यु हो गई

16 अगस्त 2019 : पीरागढ़ी फ्लाईओवर पर ही एक बाइक सवार इंजीनियर की गर्दन में चाइनीज मांझा फंस गया. उपचार के बाद वे बच सके

24 अगस्त 2019 : खजूरी पुस्ते पर तीन वर्ष की एक बच्ची के गर्दन में मांझा फंसने से मौत