बीजेपी की सदस्य संख्या सुनकर चीन हैरान

बीजेपी की सदस्य संख्या सुनकर चीन हैरान

भारतीय जनता पार्टी के बढ़ते जनाधार ने चीन की सत्ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के नेताओं को भी सोचने को मजबूर कर दिया है। बीजेपी के दावों पर यकीन करें तो मौजूदा समय में उसके सदस्यों की संख्या चीन की इकलौती दबदबे वाली पार्टी सीपीसी के सदस्यों की संख्या से लगभग दो गुनी हो चुकी है। ऐसे में चीनी सरकार के नेता ये सोचने को मजबूर हो गए हैं कि जब उनके यहां किसी दूसरी पार्टी का कोई वजूद नहीं है, तब भारत में हजारों पार्टियों की मौजूदगी के बावजूद भारतीय जनता पार्टी की सदस्य संख्या उससे डबल कैसे हो गई। यह बात तब सामने आई, जब भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल हाल ही में चीन के दौरे पर गया था।

बीजेपी का एक प्रतिनिधिमंडल हाल ही में चीन के दौरे से लौटा है। द प्रिंट में छपी एक खबर के मुताबिक जब बीजेपी के नेता कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के अधिकारियों से मिले, तब पार्टी के सदस्यों की संख्या के बारे में सुनकर उनके मन में बीजेपी के संगठन और मेंबरशिप स्ट्रक्चर को लेकर बहुत सारे सवाल पैदा हो गए। वह जानना चाह रहे थे कि पिछले पांच साल में बीजेपी ने संगठन को कैसे मजबूत किया है? चुनावों में पार्टी अपनी मशीनरी का इस्तेमाल कैसे करती है? और सबसे बड़ी बात कि बीजेपी मेंबरशिप ड्राइव कैसे चलाती है, जिसने उसे बहुत ही पीछे छोड़ दिया है। प्रतिनिधिमंडल में शामिल बीजेपी के एक नेता के मुताबिक ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि, 'जब हमने उन्हें बताया कि हमारी पार्टी के सदस्यों की संख्या उनसे ज्यादा है तो वे बहुत ज्यादा हैरान हो गए। वे जानना चाहते थे कि हमने पार्टी को कैसे खड़ा किया है, विशेष तौर पर पिछले पांच वर्षों में....' इस दौरान बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की ओर से लिखा गया एक खत भी सौंपा।