खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा बलों को आगाह किया

खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा बलों को आगाह किया

कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसे हमले का अलर्ट है. खुफिया एजेंसियों के इस अलर्ट के बाद सुरक्षा बल जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजरने वाले हर सरकारी वाहन पर कड़ी नजर रख रहे हैं.

खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा बलों और स्थानीय पुलिस को आतंकियों के मंसूबे के बारे में आगाह किया है. ऐसी सूचना है कि आतंकी फिर से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजरने वाले सरकारी वाहन को निशाना बना सकते हैं. पुलवामा में पिछले साल फरवरी में सीआरपीएफ के एक वाहन को कार बम के जरिये निशाना बनाया गया था जिसमें तीन दर्जन से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे.
बहरहाल, सुरक्षा एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि आतंकवादी सुरक्षा बलों को कार बम से निशाना बना सकते हैं.

सूत्रों ने बताया, 'देखा गया है कि आतंकी कार बम और विस्फोटक के जरिये सुरक्षा बलों को निशाना बना रहे हैं. पुलवामा हमले की तर्ज पर आतंकी स्थानीय हमलावारों का सहारा ले सकते हैं.'

राष्ट्रीय राजमार्ग संवेदनशील

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक श्रीनगर को जम्मू से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग संवेदनशील है, क्योंकि ऐसी कई सूचनाएं मिली हैं जिनमें कहा गया है कि आतंकी सुरक्षा बलों के वाहनों को निशाना बना सकते हैं. कश्मीर में आतंकी सुरक्षा बलों पर हमला करने की योजना बना रहे हैं.

आतंकियों को मिली हमले की जिम्मेदारी

एक अन्य खुफिया सूचना में दावा किया गया है कि पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को सुरक्षा बलों पर हमला करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. बताया जा रहा है कि हाल ही में पुलवामा में आंतकियों की एक बैठक हुई थी जिसमें लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिद्दीन और जैश-ए-मोहम्मद को सुरक्षा बलों पर हमले की जिम्मेदारी सौंपी गई है.