विदेशी विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय प्रवेश इम्तिहान ‘ इंडिया सेट’ से होगा गुजरना

 विदेशी विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय प्रवेश इम्तिहान ‘ इंडिया सेट’ से होगा गुजरना

अगले वर्ष से हिंदुस्तान में उच्च एजुकेशन की पढ़ाई के इच्छुक विदेशी विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय प्रवेश इम्तिहान ‘ इंडिया सेट’ से गुजरना होगा. अप्रैल 2020 में आयोजित होने वाली प्रवेश इम्तिहान में भाषा और तार्किक योग्यता की परख होगी. अभी इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फार्मेसी आदि में 12वीं के अंकों के आधार पर दाखिला मिल जाता था, पर अब ऐसा नहीं होगा.

ऑफिसर के मुताबिक, हर देश की एजुकेशन प्रणाली में अंतर है. इसलिए सभी राष्ट्रों के विद्यार्थियों को एक समान फायदा देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश इम्तिहान प्रारम्भ की जा रही है. प्रवेश इम्तिहान में जो पास करेगा, उसी को दाखिला मिलेगा. स्टडी इन इंडिया के तहत 30 राष्ट्रों के विद्यार्थी हिंदुस्तान में पढ़ाई कर रहे हैं. जबकि सामान्य विश्वविद्यालयों में 80 से अधिक राष्ट्रों के विद्यार्थी दाखिला लेते हैं.

 
प्रवेश इम्तिहान का जिम्मा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को

अधिकारी के मुताबिक, विदेशी विद्यार्थियों के लिए प्रवेश इम्तिहान की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को मिलेगी. प्रवेश इम्तिहान का पैटर्न तैयार करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी व एडसिल की एक कमेटी बनाई गई है.