इंदौर की होटल से बरामद स्त्रियों को पतियों को सौंपने से इनकार, जाने क्यों

इंदौर की होटल से बरामद स्त्रियों को पतियों को सौंपने से इनकार, जाने क्यों

मप्र के हनी ट्रैप मुद्दे से जुड़े मामलों में सुर्खियों में आए मीडिया कारोबारी जीतू सोनी के इंदौर में स्थित गैरकानूनी निर्माण को ध्वस्त किए गए. इनमें गीता भवन चौराहा स्थित होटल माय होम, कनाडि़या रोड स्थित सोनी के बंगले, साउथ तुकोगंज स्थित होटल बेस्ट वेस्टर्न प्लस ओ2 व न्यू पलासिया स्थित ओ2 कैफे के गैरकानूनी हिस्से शामिल हैं. जिला प्रशासन, पुलिस व नगर निगम के अफसरों ने चारों स्थान मुआयना करने और दस्तावेज जुटाने के साथ ही कार्रवाई की रूपरेखा पहले से तैयार कर ली थी. गुरुवार प्रातः काल छह बजे से ही चारों स्थान कार्रवाई शुरु हो गई है.

इंदौर की होटल से बरामद स्त्रियों को पतियों को सौंपने से इनकार

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनीट्रैप मुद्दे को मीडिया में उछालकर चर्चा में आए 'संझा लोकस्वामी' अखबार के मालिक जीतू सोनी की होटल माय होम से बरामद स्त्रियों को उनके कथित पतियों को सौंपने से उच्च न्यायालय ने मना कर दिया. इन पतियों ने बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर कर मांग की कि पत्नियां उन्हें सौंपी जाएं.

 

महिलाओं को आश्रम में भेजा

गत शनिवार की रात पुलिस ने सोनी की होटल पर छापा मार कर 67 स्त्रियों व युवतियों को बरामद किया था. इनके साथ कुछ बच्चे भी थे. कुछ महिलाएं होटल में कथित पतियों के साथ रह रही थीं. इन्हें छोटे-छोटे कमरों में रखा जाता था. पुलिस ने इन्हें बरामद करने के बाद शहर के ज़िंदगी ज्योति आश्रम में शिफ्ट किया है. छह स्त्रियों के पतियों ने एडवोकेट मनोहरलाल दलाल के माध्यम से उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की है. बुधवार को इसकी सुनवाई हुई.

 

महिलाएं और पति होटल के कर्मचारी थे : वकील

वकील मनोहर दलाल ने न्यायालय में दलील दी कि महिलाएं व उनके पति होटल में कर्मचारी थे व वहीं रह रहे थे. इनमें कुछ के तो बच्चे भी हैं. ये लोग बंगाल व असम के रहने वाले हैं. शनिवार रात को पुलिस कार्रवाई के बाद से उन्हें उनके पतियों से मिलने नहीं दिया जा रहा.

छोड़ा तो स्त्रियों को खतरा : एसएसपी

इंदौर की एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र ने न्यायालय में बोला कि प्रकरण में ये महिलाएं अहम गवाह हैं. होटल का कर्ताधर्ता व मुद्दे का मुख्य आरोपित जीतू सोनी गायब है. पुलिस उसे तलाशने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. इन स्त्रियों को आश्रम से बाहर भेजा गया तो उनके ज़िंदगी को खतरा होने कि सम्भावना है. आश्रम में स्त्रियों की सुरक्षा के पुख्ता बंदोवस्त किए गए हैं. स्त्रियों ने होटल में अनैतिक गतिविधियां चलने की बात भी कही है.

 

एसएसपी दायर करें शपथ लेटर : कोर्ट

दोनों पक्षों को सुनने के बाद उच्च न्यायालय ने एसएसपी को आदेश दिया कि जो बातें उन्होंने न्यायालय में कही हैं, वे इसे शपथ लेटर पर लिखित में दें. न्यायालय इस मुद्दे में अब शुक्रवार को सुनवाई करेगी.

20 हजार के इनामी सोनी पर अब तक छह केस

मानव तस्करी, आईटी एक्ट, लूट जैसे गंभीर अपराधों में फरार 20 हजार के इनामी आरोपित जीतू सोनी पर पुलिस ने बुधवार को दो व प्रकरण दर्ज किए गए. इनमें एक में आरोप लगाया गया है कि सोनी ने 30 फ्लैट पर अतिक्रमण कर वहां गनमैन और बाउंसर तैनात किए. शिकायत करने पर किराएदार और खरीदारों को धमकाया. जीतू पर अभी तक छह केस केस दर्ज हो चुके हैं.

 

महिलाओं ने कहा- शारीरिक उत्पीड़न भी हुआ

एसएसपी के मुताबिक होटल से मुक्त कराई गई स्त्रियों व लड़कियों ने कबूला कि उनके ग्रुप में शामिल कई युवतियों का शारीरिक उत्पीड़न भी हुआ है. जीतू के आदेश थे कि डांस फ्लोर पर नोट न्योछावर करने वाले ग्राहक को अदाओं से तब तक सम्मोहित किया जाए, जब तक कि उसके रुपए समाप्त न हों. नोट न्योछावर करने के लिए होटल में ही कड़क नोट मुहैया कराने के भी बंदोवस्त थे. रुपए समाप्त होने पर ग्राहक को धक्के देकर बाहर निकाल देते थे. कई बार प्रीमियम ग्राहक व जीतू के दोस्त होटल में भी संबंध बनाते थे.