नए नागरिकता कानून का हो रहा सारे देश में विरोध

नए नागरिकता कानून का हो रहा सारे देश में विरोध

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में लागू हुए नए नागरिकता कानून का सारे देश में विरोध हो रहा है. दिल्ली के शाहीनबाग में महिलाएं दो महीने से ज्यादा समय से प्रदर्शन कर ही हैं.

इसी तरह से कोलकाता के पार्क सर्कस मैदान में भी सीएए का विरोध हो रहा है. बुधवार की रात 9:30 में फिल्म एक्टर जीशान अयूब की बीबी डॉयरेक्टर-एक्टर रसिका अगाशे प्रदर्शनकारियों का समर्थन करने पार्क सर्कस मैदान पहुंची. यहां उन्होंने बोला कि मैं जीशान अयूब की बीवी हूं, मैं हिन्दू हूं व शर्मिंदा हूं.

टेलिग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार, रसिका ने कहा, “मैं मोहम्मद जीशान अयब की बीबी हूं. मैं हिंदू हूं. व एक कविता है: ‘मैं हिंदू हूं व शर्मिंदा हूं.’ मैं यहां पर ये बिल्कुल बोलना चाहूंगी कि एक हिंदू देश में, हिंदू देश जैसा बोला जा रहा है, उस में हम जैसे हिंदू शर्मिंदा हैं कि यहां पर ऐसे बैठना पड़ रहा है सिर्फ एक धर्म के लोगों को.” उन्होंने यह भी बोला कि यहां की साहसी स्त्रियों से मिलने के बाद मैं किसी व पंक्ति के बारे में नहीं सोच सकती.

दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा की एल्युमिनी रसिका ‘मेरे प्यारे प्रधानमंत्री’ फिल्म में राबिया का भूमिका निभा चुकी हैं. उन्होंने कहा, “आप अकेले नहीं हो, हम सब साथ में हैं यहां पर.”

नागरिकता (संशोधन) अधिनियम व प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरूद्ध स्त्रियों के नेतृत्व में पदर्शन 7 जनवरी से प्रारम्भ हुई थी. आरंभ में केवल कुछ दर्जन महिलाएं थीं. दिनों-दिन इनकी संख्या बढ़ रही है व पार्क सर्कस मैदान शाहीन बाग के रूप में उभरा है. बुधवार की रात जब रासिका लोगों को संबोधित कर रहीं थी, तब वहां 3000 से अधिक लोग उपस्थित थे.

पार्क सर्कस मैदान में उपस्थित स्त्रियों के साहस को सलाम करते हुए रासिका ने कहा, “अब तक हम ये कहते थे सेना वहां पर खड़ी है, इसलिए भारत आराम की नींद सोता है. मैं कहती हूं कि देश में हर स्थान पे आप लोग इस तरह से बैठे हुए हैं, इसलिए सेक्युलर हिंदुस्तान चैन की नींद ले सकता है.”