आज के समय में घुशखोरी व लालच के कारण हर तरफ फैली हुई बेरोजगारी, जानिए कारण

आज के समय में घुशखोरी व लालच के कारण हर तरफ फैली हुई बेरोजगारी, जानिए कारण

गरीबी एक ऐसी बिमारी है जिसका कोई उपचार ही नहीं है लोग कहते है कि अच्छी नौकरी व अच्छी एजुकेशन से गरीबी को मिटाया जा सकता है पर क्या कोई इस बात को जानता है कि आज के समय में घुशखोरी व लालच के कारण हर तरफ बेरोजगारी फैली हुई है,

 व इसी बात से परेशान लोग कई बार परिश्रम करते करते पराजय जाते है या फिर अपनी जिंदगी का त्याग भी कर देते है वहीं कुछ ऐसी ही घटना है केरला के तिरुवनंतपुरम की जंहा गरीबी से परेशान छह बच्चों की एक मां के बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) को लेटर लिखकर अपने चार बच्चों का भरण पोषण करने में असमर्थता जताने का मुद्दा सामने आया है। इस मां ने अपने लेटर में बोला है कि उनके बच्चों में एक ने भूख के चलते कीचड़ तक खा लिया था।

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि इस लेटर के मिलने के बाद समिति ने चारों बच्चों के पालन पोषण की बीते सोमवार को खुद जिम्मेदारी उठाने का निर्णय लिया है। महिला ने लेटर में लिखा था कि उसका पति नशा करता है व वे अपने बच्चों को भोजन मुहैया कराने में असमर्थ हैं।

वहीं यदि हम बात करें सूत्रों कि तो उसने यह भी बोला था कि एक बार एक बच्चे ने भूख के कारण कीचड़ खा लिया था। वहीं लेटर मिलने के बाद सीडब्ल्यूसी के मेम्बर परिवार के अस्थायी घर पहुंचे व बच्चों का संरक्षण अपने हाथ में ले लिया।