वर्तन निदेशालय ने कहा- " इस मुद्दे को प्रभावित कर सकते...

वर्तन निदेशालय ने कहा- " इस मुद्दे को प्रभावित कर सकते...

हाल ही में आईएनएक्स मीडिया घोटाले में तिहाड़ कारागार में बंद कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर उच्चतम न्यायालय बुधवार यानी 4 दिसंबर 2019 को निर्णय सुना सकता है। जंहा जस्टिस आर। 

भानुमति की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मुद्दे में गत 28 नवंबर 2019 को अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया था। वहीं चिदंबरम ने दिल्ली उच्च न्यायालय के उन्हें जमानत न देने के निर्णय के विरूद्ध उच्चतम न्यायालय में अपील दायर की थी। वह इन दिनों प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में हैं व प्रवर्तन निदेशालय का बोलना है कि वे इस मुद्दे को प्रभावित कर सकते हैं इसलिए उनको जमानत न दी जाए। वहीं, चिदंबरम का तर्क है कि एजेंसी के आरोप निराधार हैं व वह उनका करियर समाप्त नहीं कर सकती है। प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें 16 अक्टूबर को हिरासत में लिया था।

भाजपा पर चिदंबरम का तंज, देश की अर्थव्यवस्था अब भगवान ही बचाएंगे:सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस बात का पता चला है कि दूसरी ओर पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस पार्टी नेता पी चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था के मुद्दे को लेकर बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे के बयान पर तंज कसते हुए मंगलवार को एक ट्वीट भी किया। वहीं उन्होंने ट्वीट भी किया है कि भगवान आप ही देश की अर्थव्यवस्था को बचाएं।

जानकारी के लिए हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि दुबे ने एक दिन पहले कराधन बिल पर चर्चा के दौरान लोकसभा में बोला था कि जीडीपी की कोई प्रासंगिकता नहीं होती। इसे बाइबल, रामायण या महाभारत की तरह महत्व नहीं देना चाहिए। इस पर चिदंबरम ने अपने परिवार के जरिए ट्वीट कराया। जंहा कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी सोमवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए बोला था कि भगवान हिंदुस्तान के लोगों को ये नए अर्थशास्त्रियों से बचाओ।