कोरोना एक्टिव संक्रमितों की संख्या में इंदौर को किया राजधानी ने पीछे

कोरोना एक्टिव संक्रमितों की संख्या में इंदौर को किया राजधानी ने पीछे

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना बेकाबू हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक राजधानी इस समय कोरोना एक्टिव संक्रमितों की संख्या के मुद्दे में इंदौर को पीछे छोड़ते हुए पहले नंबर पर आ गया है। इसकी वजह से स्वास्थ्य विभाग की भी चिंता बढ़ गई है।

स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई का बोलना है कि राजधानी में कोरोना संक्रमितों मरीजों का उपचार समय पर हो सके, इसके लिए नए कोविड-19 अस्पताल बनाए गए हैं। साथ ही क्वॉरंटीन सेंटरों की भी संख्या बढ़ा दी गई है। संक्रमितों की पहचान हो सके इसके लिए फीवर क्लीनिक की भी मदद ली जा रही है।

आंकड़ों के मुताबिक राजधानी में इस समय 2177 मरीजों का उपचार भिन्न-भिन्न अस्पतालों किया जा रहा है। जबकि इंदौर में यह संख्या 2060 है। भोपाल का रिकवरी रेट इंदौर के मुकाबले 4.15 फीसदी कम है। भोपाल में यह स्थिति पिछले 10 दिनों में 1978 नए मरीजों के मिलने से बनी हुई है।

हालांकि पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब भी इंदौर में सबसे ज्यादा है। इंदौर में अब तक कोविड-19 के 7555 केस आ चुके हैं। जबकि भोपाल में यह संख्या 6950 है।

एक महीने में भोपाल में ऐसे बदली स्थिति
कुल मरीज
31 जुलाई को भोपाल में 6616 व इंदौर में 7328
30 जून को भोपाल में 2789 व इंदौर में 4709

ठीक हुए मरीज।
31 जुलाई को भोपाल में 3963 व इंदौर में 5036
30 जून को भोपाल में 2149 व इंदौर में 3452

एक्टिव मरीज
31 जुलाई को भोपाल में 2174 व इंदौर में 1918
30 जून को भोपाल में 498 व इंदौर में 1028

मौत
31 जुलाई को भोपाल में 176 व इंदौर में 311
30 जून को भोपाल में 97 व इंदौर में 229

रिकवरी रेट
31 जुलाई को भोपाल में 66.77 व इंदौर में 68.72
30 जून को भोपाल में 78.66 व इंदौर में 73.30