प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहीं ये बड़ी बात- "केन्द्र अन्य उपक्रमों के जैसे रेलवे को भी बेचना चाह रही"

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहीं ये बड़ी बात- "केन्द्र अन्य उपक्रमों के जैसे रेलवे को भी बेचना चाह रही"

कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कैग (CAG) की उस रिपोर्ट को लेकर सरकार पर निशाना साधा है, जिसमें दावा किया गया है कि रेलवे का परिचालन बीते 10 सालों में सबसे बेकार रहा है। प्रियंका गांधी वाड्रा ने बोला है कि केन्द्र अन्य उपक्रमों के जैसे रेलवे को भी बेचना चाह रही है। प्रियंका ने बोला कि बीजेपी (भाजपा) ने रेलवे को सबसे बुरी स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि देश की परिवहन व्यवस्था की रीढ़ भारतीय रेलवे को 100 रुपये की कमाई करने के लिए 98.44 रुपये खर्च करना पड़ा। यह आंकड़ा 2017-18 का है, जो पिछले 10 सालों में रेलवे की सबसे बेकार स्थिति को बयान करता है। संसद में सोमवार को पेश की गई रिपोर्ट में हिंदुस्तान के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने बताया है कि इंडियन रेलवे का परिचालन अनुपात 2017-18 में 98.44 फीसदी था जोकि बीते 10 साल में सबसे बेकार था।

98.44 फीसदी परिचालन का अर्थ यह है कि रेलवे ने प्रत्येक सौ रुपया कमाने पर 98.44 रुपये खर्च किए। परिचालन अनुपात खर्च व राजस्व का अनुपात होता है। कैग ने बोला कि रेलवे ने यदि एनटीपीसी व इरकॉन से अग्रिम नहीं प्राप्त किया होता तो उसे 1,665.61 करोड़ रुपये के आधिक्य के बदले 5,676.29 करोड़ रुपये का नुकसान होता।