पीएम मोदी ने ईरान के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति रईसी को दी बधाई, कहा...

पीएम मोदी ने ईरान के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति रईसी को दी बधाई, कहा...

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ईरान के नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति इब्राहिम रईसी को बधाई दी है। उन्‍होंने कहा कि वह भारत और ईरान के बीच मधुर संबंधों को और मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने को लेकर आशान्वित हैं। मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि 'इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान के राष्ट्रपति के रूप में चुने जाने पर महामहिम इब्राहिम रईसी को बधाई। मैं भारत और ईरान के बीच मधुर संबंधों को और मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।'

भारत-ईरान के बीच ऐतिहासिक संबंध

ईरान और भारत के संबंध ऐतिहासिक है। ईरान, भारत का पुराना आर्थिक और सामरिक सहयोगी है। अमेरिकी प्रतिबंधों से पहले भारत चीन के बाद ईरान का दूसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। दोनों देशों का सालाना द्विपक्षीय कारोबार करीब दो हजार करोड़ डालर का है। भारत ईरान को दवा, भारी मशीनरी कल पुर्जे और अनाज का निर्यात करता है। भारतीय कम्पनियां ईरान के तेल रिफाइनरी, दवा, फर्टिलाइजर और निर्माण क्षेत्र में पैसा लगा रही हैं।

राष्‍ट्रपति चुनाव में रईसी को भारी मतों से जीत

ईरान के राष्ट्रपति चुनाव में कट्टरपंथी उम्मीदवार इब्राहिम रईसी को भारी मतों से जीत मिली है। वह अगस्त में मौजूदा राष्ट्रपति हसन रूहानी की जगह लेंगे। रईसी देश के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला अली खामनेई के करीबी और देश में शीर्ष अदालत के मुख्य न्यायाधीश हैं। मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर अमेरिका ने उन पर प्रतिबंध लगा रखा है। परमाणु कार्यक्रम को लेकर अमेरिकी प्रतिबंधों से जूझ रहे ईरान में शुक्रवार को राष्ट्रपति पद के लिए मतदान कराया गया था। करीब छह करोड़ वोटरों में से दो करोड़ 90 लाख मतदाताओं ने मत डाले।

60 वर्षीय रईसी को एक करोड़ 78 लाख से ज्यादा वोट मिले

चुनाव अधिकारियों के अनुसार, अब तक की गिनती में 60 वर्षीय रईसी को एक करोड़ 78 लाख से ज्यादा वोट मिले हैं। देश के प्रमुख सैन्य बल रिवोल्यूशनरी गार्ड के पूर्व कमांडर मोहसिन रेजाई को 33 लाख और अब्दुलनसर हिम्मती को करीब 24 लाख वोट मिले हैं, जबकि चौथे उम्मीदवार अमीरहोसिन हाशमी के खाते में दस लाख मत गए हैं। सेंट्रल बैंक के प्रमुख रहे हिम्मती को उदार माना जाता है। उन्होंने रईसी को जीत की बधाई दी है। ईरान में हर चार साल पर राष्ट्रपति चुनाव कराया जाता है और 50 फीसद मत पाने वाले को विजेता घोषित किया जाता है।


पीएम मोदी से मिले पूर्वोत्तर के भाजपा सांसद, किरेन रिजिजू का विपक्ष पर वार, कहा...

पीएम मोदी से मिले पूर्वोत्तर के भाजपा सांसद, किरेन रिजिजू का विपक्ष पर वार, कहा...

असम-मिजोरम सीमा पर हाल में हुए विवाद के बाद पूर्वोत्तर के भाजपा सांसदों ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान सांसदों ने पीएम को ज्ञापन सौंपा, जिसमे कांग्रेस पर हिंसा का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया गया है। भाजपा सांसदों ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस और विदेशी ताकतें लोगों को भड़का रहीं हैं और भाईचारा बिगाड़ने की कोशिश कर रहीं हैं।

कांग्रेस और दूसरी राजनीतिक पार्टियां आग में घी डालने का कर रही काम

इसके साथ ही सौंपे गए ज्ञापन में लिखा गया है कि सीमा विवाद पुराना है, लेकिन कांग्रेस और दूसरी राजनीतिक पार्टियां आग में घी डालने का काम कर रहीं हैं। लगातार हिंसा को भड़काने के लिए भड़काऊ बयान दे रहे हैं। लोगों को भड़काया जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी विदेशों से कुछ ऐसी चीजें पोस्ट की जा रहीं हैं, जिससे आशंति पैदा हो।


मोदी के नेतृत्व में पूर्वोतर का हुआ विकास

इसके साथ ही ज्ञापन में लिखा है कि पूर्वोत्तर में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में जो विकास हुआ है, वैसा कभी नहीं हुआ। पिछले 7 सालों में पूर्वोत्तर में इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पर 2 लाख करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। जो लोग पूर्वोत्तर में सुख और शांति बिगाड़ने का काम कर रहे हैं। हम उसकी निंदा करते हैं।

 
किरेन रिजिजू बोले- संवेदनशील मामले पर ना करें राजनीतिकरण

वहीं बैठक के खत्म होने के बाद केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा कि हमने पीएम का आभार व्यक्त किया और उन्हें बताया कि कैसे कांग्रेस और दूसरी राजनीतिक पार्टियां हिंसा का राजनीतिकरण करके पूर्वोत्तर की शांति बिगाड़ में अहम भूमिका निभा रही है। उन्होंने ये भी कहा कि हम कांग्रेस से इस संवेदनशील मामले का राजनीतिकरण नहीं करने की अपील करते हैं।

 
मीडिया रिपोर्ट की मानें तो असम-मिजोरम के बीच जारी सीमा विवाद के कारण 26 जुलाई को हुए संघर्ष में असम पुलिस के कम से कम 6 कर्मियों और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी। इसके साथ ही 50 से अधिक लोग घायल हो गए थे। ताजा स्थित की बात करें ते कछार जिले में असम-मिजोरम सीमा पर सोमवार को शांति रही।