कोर्ट से जमीन घोटाला मामले में संजय राउत को झटका

कोर्ट से जमीन घोटाला मामले में संजय राउत को  झटका

Sanjay Raut ED: मुंबई की एक विशेष न्यायालय ने शहर में एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मुद्दे में सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया न्यायालय ने राउत का घर से बना खाना और दवाएं मंगाने का निवेदन स्वीकार कर लिया हालांकि, उसने बिस्तर के उनके निवेदन पर कोई आदेश पारित करने से इनकार कर दिया जज ने बोला कि कारागार की नियमावली के मुताबिक कारागार प्राधिकारियों ने बिस्तर की पूरी प्रबंध की है प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 60 वर्षीय राउत को उपनगर गोरेगांव में पात्रा चॉल के पुनर्विकास में कथित वित्तीय अनियमितताओं के संबंध में एक अगस्त को अरैस्ट किया था

उन्हें सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत समाप्त होने पर धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के विशेष न्यायाधीश एमजी देशपांडे की न्यायालय में पेश किया गया था प्रवर्तन निदेशालय ने उनकी हिरासत अवधि बढ़ाए जाने की मांग नहीं की इसके बाद जज ने राउत को न्यायिक हिरासत में भेज दिया प्रवर्तन निदेशालय की जांच पात्रा ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित वित्तीय अनियमितताओं, राउत की पत्नी और साथियों से संबंधित वित्तीय लेनदेन से जुड़ी है

ईडी के ऑफिसरों ने 31 जुलाई को संजय राउत के घर छापेमारी की थी और उनसे कई घंटों तक पूछताछ के बाद 1 अगस्त को अरैस्ट कर लिया इसी वर्ष 28 जून को प्रवर्तन निदेशालय ने 1034 करोड़ रुपये के पत्रा चॉल जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग कनेक्शन में राउत को समन भेजा था

इससे पहले संजय राउत की पत्नी वर्षा मनी लॉन्ड्रिंग मुद्दे में शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुई थीं प्रवर्तन निदेशालय ने इस सप्ताह की आरंभ में वर्षा राउत को समन भेजे थे वह शनिवार सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर दक्षिण मुंबई में बलार्ड एस्टेट स्थित प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय पहुंची थीं