सीमा पर तैनात भारत-चीन सेनाएं, पूरी हुई तैयारियां

सीमा पर तैनात भारत-चीन सेनाएं, पूरी हुई तैयारियां

नई दिल्ली। लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल(LAC) से चौंका देने वाली बड़ी खबर आ रही है। जीं हां पूर्वी लद्दाख सीमा पर दोनों देशों भारत और चीन के बीच युद्ध के हालात बनते दिखाई देने लगे हैं। दोनों ही देश जंग के संकेत देते हुए पूरी तरह से सीमा पर तैयारी के साथ तैनात हैं। लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल(LAC) के नजदीक टैंक्स, मशीनगन और आधुनिक हथियारों को इकट्ठा कर लिया गया है और एयरफोर्स की ताकत भी लगातार बढ़ाई जा रही है। सीमा पर जवानों की तैनाती भी भारी संख्या में है।

भारत को जंग के लिए चुनौती
ऐसे में ये तो हम सभी जानते हैं कि बीते कई महीनों से लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल (LAC) पर भारत-चीन के बीच तनाव बना हुआ है। लंबे समय से सीमा पर चल रहे भूमि विवाद को निपटाने के लिए शनिवार को चुशुल में ब्रिगेड- कमांडर स्तर की बातचीत अनिर्णायक रही।

इस दौरान लाइन ऑफ एक्चूअल कंट्रोल(LAC) पर हालात बहुत तनावपूर्ण बने हुए है। चीनी सीमा पर टाइप 15 लाइट टैंक्स, इंफैंट्री फाइटिंग व्हिकल्स, AH4 हॉवित्जर गन्स, HJ-12 एंटी टैंक्स गाइडेड मिसाइल्स, NAR-751 लाइट मशीनगन, W-85 हैवी मशीनगन और एंटी-मैटेरियल स्नाइपर राइफल्स के साथ भारत को जंग के लिए चुनौती दे रहा है।

साथ ही भारत ने जंगी जबाव में LAC पर T-90 भीष्म टैंक्स, BMP-2K इंफैंट्री फाइटिंग व्हिकल्स, M777 अल्ट्रा लाइट हॉवित्जर गन्स, स्पाइक एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल्स, NEGEV लाइट मशीनगन्स, TRG स्नाइपर राइफल्स की तैनाती की है।

सीमा पर जंग के हालातों के बीच आसमान में भी दृश्य काफी अद्भूत दिखाई दे रहा है। भारत के लद्दाख क्षेत्र में सुखोई 30, मिग 29, मिराज 2000, चिनूक और अपाचे हेलिकॉप्टर की तैनाती की हुई है।

भारत की मजबूती देखते हुए चीन ने LAC पर लगे इलाकों में सैन्य ठिकानों के साथ-साथ एयरफोर्स की ताकत लाना शुरू कर दिया था। उसने तिब्तत के उतांग क्षेत्र में एयरबेस तैयार किया, जो LAC से मात्र 200 किमी की दूरी पर है। साथ ही अब चीन ने परमाणु बम गिराने वाले बॉम्बर विमानों के साथ तिब्बत के पठारी क्षेत्र में युद्धाभ्यास भी शुरू कर दिया है। चीन हर तरफ से अपनी मजबूती करने में लगा हुआ है।