कोरोना काल में कर्मचारियों ने जीपीएफ से जमा धन निकालना कर दिया आरम्भ

कोरोना काल में कर्मचारियों ने जीपीएफ से जमा धन निकालना कर दिया आरम्भ

 कोरोना वायरस ने अर्थव्यवस्था को कठिन में डाल दिया है। सभी के सामने आर्थिक तंगी आ गई है। मध्य प्रदेश में आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए कर्मचारियों ने जीपीएफ

(  जनरल प्रोविडेंट फंड एकाउंट ) में जमा अपनी भविष्य की पूंजी को निकालना प्रारम्भ कर दिया है।  

आंकड़ों के मुताबिक, जीपीएफ खाते से सालभर में 1172 करोड़ रुपये निकाले गए हैं, इनमें कोरोना संक्रमण के दौरान सिर्फ 4 महीने में 850 करोड़ रुपए निकाले हैं। पिछले साल 2018-19 की बात करें तो कर्मचारियों ने जीपीएफ से सिर्फ 162 करोड़ रुपए निकाले थे यानी सीधे-सीधे इस वर्ष कर्मचारियों द्वारा 1010 करोड़ रुपए ज्यादा निकाले गए हैं।  

 जीपीएफ से लगातार पैसा निकलने से सरकार की चिंता बढ़ गई है, उसे भय है कि कर्मचारियों की जमा पूंजी निकलने का सिलसिला जारी रहा तो सरकार के खजाने पर उल्टा प्रभाव पड़ेगा। दरअसल जीपीएफ में जमा राशि का उपयोग जन कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च करती है।