मिली अग्रिम जमानत रद्द करने की प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर, आज होगी सुनवाई

मिली अग्रिम जमानत रद्द करने की प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर,  आज होगी सुनवाई

मिली अग्रिम जमानत रद्द करने की प्रवर्तन निदेशालय की याचिका परआज सुनवाई करेगा। इससे उच्च न्यायालय ने निचली न्यायालय के एक अप्रैल के निर्णय को चुनौती देने वाली प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर वाड्रा को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। निचली न्यायालय ने वाड्रा को जमानत दी थी।

अदालत ने इसी मुद्दे में वाड्रा के करीबी सहयोगी मनोज अरोड़ा से भी जवाब मांगा था। प्रवर्तन निदेशालय ने उनकी अग्रिम जमानत भी रद्द करने का आग्रह किया है। प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने बोला था कि एजेंसी वाड्रा को हिरासत में लेना चाहती है, क्योंकि वह जाँच में योगदान नहीं कर रहे हैं व निचली न्यायालय ने मुद्दे की गंभीरता पर विचार नहीं किया है

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बहनोई वाड्रा लंदन में संपत्ति खरीदने के मुद्दे में धन शोधन के आरोपी हैं। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि रॉबर्ट वाड्रा के विरूद्ध विदेश में संदिग्ध संपत्ति व बीकानेर में जमीन खरीदने की जाँच चल रही है। लंदन मे एक फ्लैट को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने वाड्रा के करीबी सहयोगी मनोज अरोड़ा के विरूद्ध केस दर्ज किया था।

ईडी का आरोप है कि यह फ्लैट मनोज अरोड़ा के बजाय वाड्रा का है जिसे हथियार डीलर संजय भंडारी से 2010 में खरीदा गया था। ईडी इस केस में रॉबर्ट वाड्रा से 7 बार पूछताछ कर चुकी है। वाड्रा पर देश से बाहर बेनामी संपत्ति रखने का आरोप है।