गवर्नर जगदीप धनखड़: सियासी हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म की बात

गवर्नर जगदीप धनखड़: सियासी हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म की बात

हाल ही में पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने बोला कि बड़ी पीड़ा होती है जब कहीं पढ़ता हूं कि कत्ल हो गया है। सियासी हत्याएं प्रजातंत्र के लिए शर्म की बात है। प्रजातंत्र का मतलब हिंसा नहीं होती, शांति होती है, सह-अस्तित्व होता है। सियासी पार्टियां कभी भी एक दूसरे की शत्रु नहीं हो सकतीं। हां, यह आपस में प्रतियोगी हो सकती हैं, विरोधी हो सकती हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गवर्नर जगदीप धनखड़ मंगलवार की प्रातः काल शिवपुर स्थित एजेसी बोस भारतीय बोटानिकल गार्डेन में प्रातः कालीन भ्रमण को पहुंचे थे। आगे उन्होंने बोला कि मैं प्रदेश के लोगों से अपील करना चाहूंगा कि बंगाल में शांति बनाए रखने के लिए आगे आएं, मार्च निकालें। मैं प्रदेश के लोगों से बोलना चाहता हूं कि हिंसा से खुद को दूर रखें।

 

अपने बयान में गवर्नर ने कहा, मैं बंगाल में शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। बंगाल एक शांतिपूर्ण प्रदेश बने। हमें हिंसा का त्याग करना चाहिए। प्रदेश में हिंसा नहीं होनी चाहिए, हिंसा से किसी भी प्रदेश की छवि धूमिल होती है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए बोला कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के इस मौका पर हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि हम आपस में शांति के साथ रहेंगे। हम हिंसा का समर्थन नहीं करेंगे।

 

इसके अतिरिक्त गवर्नर ने कहा, आपस में मतभेद हो सकते हैं, यह सबका अधिकार भी है, लेकिन हिंसा नहीं होनी चाहिए। जब कभी भी मैं हिंसा की खबरों को सुनता हूं बंगाल के गवर्नर के नाते मेरा ह्रदय लहूलुहान हो जाता है‌। मैं लोगों से अपील करना चाहूंगा महात्मा के आदर्शों को सम्मान करें। मैं लोगों से यह भी बोलना चाहूंगा कि प्रत्येक आदमी महात्मा को रोजाना स्मरण करें। किसी भी हालत में हम हिंसा से दूर रहें , हिंसा से बचें।