पूर्व केंद्रीय मंत्री पी। चिदंबरम को देर रात जमानत पर तिहाड़ कारागार से कर दिया गया बरी

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी। चिदंबरम को देर रात जमानत पर तिहाड़ कारागार से कर दिया गया बरी

आईएनएक्स मीडिया करप्शन मुद्दे (INX Media Case) में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी। चिदंबरम (P Chidambaram) को बुधवार देर रात जमानत पर तिहाड़ कारागार से बरी कर दिया गया। 106 दिन बाद बाहर आए चिदंबरम ने बोला कि उनके विरूद्ध एक भी आरोप तय नहीं किए गए। चिदंबरम आज संसद की कार्यवाही में शामिल होंगे।



'मेरे विरूद्ध आरोप नहीं'
जेल से बाहर निकलने के बाद पी चिदंबरम ने मीडिया को संबोधित किया व कहा, 'मुझे 106 दिन तक कैद में रखा गया, जबकि मेरे विरूद्ध एक भी आरोप तय नहीं किए गए। मैं इन सभी का जवाब गुरुवार को दूंगा। '

सोनिया से मिले चिदंबरम

उच्चतम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद बुधवार रात  को पी। चिदंबरम  ने कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की व बोला कि वह कारागार से बाहर निकलकर खुश हैं। सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम के सोनिया से मिलने के दौरान उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी साथ थे।

सोनिया से मुलाकात के बाद चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, 'मैं खुश हूं कि उच्चतम न्यायालय ने मुझे जमानत देने का आदेश दिया। मुझे खुशी है कि मैं 106 दिनों के बाद बाहर आ गया व खुली हवा में सांस ले रहा हूं। ' कारागार से बाहर आने के बाद चिदंबरम गुरुवार को कांग्रेस पार्टी मुख्यालय में पहली बार संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे ।

क्या कहा बेटे कार्ति ने?

चिदंबरम के बेटे कार्ति कारागार के बाहर उनका इंतजार कर रहे थे। उन्होंने बोला कि वह खुश हैं क्योंकि उनके पिता 106 दिनों के बाद घर लौट रहे हैं। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘लंबा इंतजार रहा। मैं सुप्रीम कोर्ट का शुक्रगुजार हूं कि उसने उन्हें जमानत दी। मैं सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी व प्रियंका गांधी वाड्रा समेत सारे कांग्रेस पार्टी नेतृत्व का आभारी हूं जिन्होंने हमारा योगदान किया। ’

राहुल बोले- बदले की कार्रवाई
पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को बोला कि पार्टी के वरिष्ठ नेता पी। चिदंबरम को 106 दिन तक कैद रखना बदले की कार्रवाई थी।  गांधी ने कहा, ‘माननीय पी चिदंबरम को 106 दिन तक कैद में रखना बदले की कार्रवाई थी। मैं खुश हूं कि उच्चतम न्यायालय ने उन्हें जमानत दी। मुझे पूरा भरोसा है कि वह निष्पक्ष सुनवाई में खुद को बेगुनाह साबित करेंगे। ’

सुप्रीम न्यायालय से मिली ज़मानत
उच्चतम न्यायालय की ओर से पी चिदंबरम को जमानत दिये जाने के कुछ घंटे बाद पूर्व वित्त मंत्री ने शीर्ष न्यायालय के आदेश के अनुसार बुधवार को दिल्ली की एक न्यायालय में दो लाख रुपये का व्यक्तिगत मुचलका भरा। विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने मुचलका व इतनी ही राशि की दो जमानतें स्वीकार कीं व उनकी रिहाई के आदेश जारी किये।