कोरोना काल में संसद का पहला सत्र: पीएम मोदी ने पहना नीला मास्क

कोरोना काल में संसद का पहला सत्र: पीएम मोदी ने पहना नीला मास्क

कोरोना वायरस महामारी से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सोमवार को संसद के मानसून सत्र का आगाज हुआ. लोकसभा की मीटिंग में शामिल हुए पीएम नरेंद्र मोदी, मंत्री व मेम्बर मास्क पहनकर पहुंचे व सामाजिक दूरी की अनुपालन सुनिश्चित की.


पीएम मोदी ने नीले रंग का थ्री प्लाई मॉस्क पहन रखा था तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान मधुबनी मास्क पहने नजर आए. तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कल्याण बनर्जी तथा कुछ मेम्बर फेस शील्ड पहनकर सदन में पहुंचे.
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी सफेद रंग का मास्क पहनकर अपने आसन पर पहुंचे. सदन में सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर सीट के आगे प्लास्टिक शील्ड कवर लगाया गया था. सदन में बैठने की बदली हुई व्यवस्था के बीच कई सदस्यों को उनके जगह तक पहुंचने में सहायक सहायता करते भी दिखे.

लोकसभा चैंबर में करीब 200 मेम्बर उपस्थित थे तो लगभग 30 मेम्बर गैलेरी में थे. लोकसभा चैंबर में ही एक बड़ा टीवी स्क्रीन लगाया गया है जिसके माध्यम से राज्यसभा चैंबर में बैठे लोकसभा के मेम्बर भी नजर आ रहे थे.


बताते चलें कि कोरोना वायरस महामारी के बीच सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए सदस्यों के लोकसभा चैंबर, गैलरी के साथ राज्यसभा में भी बैठाया गया है. मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा की कार्यवाही परंपरा के मुताबिक राष्ट्रगान के साथ शुरुआत हुई.

सदन में पीएम मोदी के पहुंचने पर सत्तापक्षा के सदस्यों ने तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया व ‘भारत माता की जय’ के नारे भी लगाए. सत्तापक्ष की तरफ पहली पंक्ति में पीएम मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उपस्थित थे. इसके साथ ही संसदीय काम मंत्री प्रह्लाद जोशी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व सरकार के कई अन्य मंत्री भी मौजूद थे.

विपक्ष की तरफ सदन में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी व कई अन्य दलों के नेता उपस्थित रहे. हिरासत से रिहा होने के बाद फारूक अब्दुल्ला पहली बार लोकसभा पहुंचे. अधीर रंजन चौधरी, सुप्रिया सुले, दयानिधि मारन व कुछ अन्य मेम्बर उनसे गर्मजोशी के साथ मिलते नजर आए. कई अन्य सदस्यों ने भी एक दूसरे का अभिवादन किया.

सदन की कार्यवाही शुरुआत होते ही पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज, वर्तमान लोकसभा मेम्बर वसंत कुमार व 13 पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि दी गई. इसके बाद कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित की गई.

प्रश्नकाल के निलंबन से जुड़े प्रस्ताव को लोकसभा से मिली मंजूरी

कांग्रेस व कई अन्य विपक्षी दलों के विरोध के बीच सरकार ने संसद के मानसून सत्र के दौरान प्रश्नकाल एवं गैर सरकारी कामकाज के निलंबन से जुड़े प्रस्ताव लोकसभा में रखा जिसे मंजूरी प्रदान कर दी गई.

विपक्षी दलों ने प्रश्नकाल के निलंबन का विरोध किया व सरकार पर सवालों से बचने का आरोप लगाया जिस पर सरकार ने बोला कि यह असाधारण हालात है जिसमें सियासी दलों को योगदान करना चाहिए.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बोला कि इस सत्र के दौरान प्रश्नकाल व गैर सरकारी कामकाज नहीं रखने पर अधिकांश दलों के नेताओं ने सहमति दी थी व प्रश्नकाल नहीं होने पर भी मेम्बर सरकार से सवाल कर सकते हैं.

संसदीय काम मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बोला कि सरकार सवालों से भाग नहीं रही है व वह सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है. सदन ने प्रश्नकाल व गैर सरकारी कामकाज के निलंबन से जुड़े प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की.

संसदीय काम मंत्री ने जब यह प्रस्ताव रखा तो सदन में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बोला कि प्रश्नकाल ‘स्वर्णकाल’ होता है व इसे सदन की आत्मा भी बोला जा सकता है. यह सरकार की जवाबदेही के लिए होता है.

उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के 73 वर्ष के बाद सरकार प्रश्नकाल हटाकर लोकतंत्र का गला घोटने का कार्य कर रही है. एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी, कांग्रेस पार्टी के मनीष तिवारी व तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कल्याण बनर्जी ने भी इस प्रस्ताव का विरोध किया.

'अटेंडेंस रजिस्टर' एप से उपस्थिति दर्ज कराएंगे सांसद
लोकसभा में सांसदों की उपस्थिति दर्ज करने के लिए एक नयी पहल की आरंभ की गई है. यह अपनी तरह की पहली पहल है, जिसमें सांसदों को 'अटेंडेंस रजिस्टर' एप की सहायता से अपनी उपस्थिति दर्ज करवानी है. लोकसभा सचिवालय ने इसकी जानकारी दी है.