कलाई पर चीनी राखियां नहीं बांधने का इन भाइयो ने लिए फैसला, पढ़े

कलाई पर चीनी राखियां नहीं बांधने का इन भाइयो ने लिए फैसला, पढ़े

लद्दाख में चाइना व भारतीय सेनाओं के बीच तनाव का देशभर में प्रभाव हुआ है। खासकर जबसे पीएम नरेन्द्र मोदी ने हिंदुस्तान को आत्मनिर्भर बनाने का नारा दिया है, तबसे देशभर में चीनी उत्पादों का बहिष्कार हो रहा है।

देश के कई लोग ऐसे हैं जो चाइना में बनीं वस्तुओं का बहिष्कार कर रहे हैं। ऐसे में चतरा की स्त्रियों ने भी इस साल भाइयों की कलाई पर चीनी राखियां नहीं बांधने का निर्णय किया है। इन स्त्रियों का बोलना है कि चाइना के विरूद्ध केवल युद्ध ही नहीं बल्कि उसके उत्पादों का बहिष्कार को भी हथियार बनाया जा सकता है।

 ऐसे में बहनें अपने अपने घरों में खुद से राखी बना रही है। ताकि वे अपनी भाइयों की कलाई को 3 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन सजा सकें। अपने भाइयों के साथ इन्होंने देश की सेवा में ततप्पर रहने वाले लोकल सीआरपीएफ कैम्प के जवानों को भी स्वनिर्मित राखी बांधेंगी।