अंडर ग्रेजुएशन कोर्स के लिए एडमिशन प्रक्रिया 5 अगस्त से होगी प्रारम्भ, पढ़े

अंडर ग्रेजुएशन कोर्स के लिए एडमिशन प्रक्रिया 5 अगस्त से होगी प्रारम्भ, पढ़े

मध्य प्रदेश के भिन्न-भिन्न कॉलेजों में अंडर ग्रेजुएशन (UG) के कोर्सों में एडमिशन 5 अगस्त से प्रारम्भ हो रहा है। इच्छुक व 12वीं पास स्टूडेंट्स यूजी कोर्सों में एडमिशन औनलाइन ले सकेंगे।

इसके लिए उन्हें खुद रजिस्ट्रेशन करना होगा। विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन फॉर्म Smart Phone या फिर लैपटॉप के जरिए भर सकेंगे।

कोरोना संकट के चलते इस बार विद्यार्थियों की एडमिशन की पूरी प्रक्रिया औनलाइन ही आयोजित की जाएगी। साथ ही उन्हें डॉक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन के लिए भी कॉलेज नहीं जाना पड़ेगा। हालांकि अगर किसी विद्यार्थी का औनलाइन डॉक्यूमेंट्स सत्यापन नहीं होता है, तो उसे सत्यापन केन्द्र पर जाना होगा।  

इन 7 स्टेप्स के जरिए विद्यार्थी कर सकेंगे रजिस्ट्रेशन
1. कॉलेज एडमिशन के लिए विद्यार्थियों को सबसे पहले औनलाइन पोर्टल पर जाना होगा। वहां जाने के बाद विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेश फॉर्म भरना होगा। उसके बाद उनसे एमपी बोर्ड, ओपन बोर्ड, सीबीएसई से 12वीं के मार्क्स सहित कई डिटेल्स पूछे जाएंगे। इन डिटेल्स को भरने के बाद पूरा डाटा सेव हो जाएगा। उसके बाद विद्यार्थियों के पास इंटर किए गए मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। उस ओटीपी को इंटर करने के बाद सबमिट करके विद्यार्थियों को फीस भरना होगा।   
2. कॉलेज/कोर्स के विकल्प का चयन
स्टूडेंट अधिकतम 15 कॉलेजों की च्वॉइस भर सकेंगे। च्वॉइस लॉक करने के लिए ओटीपी आएगा। ओटीपी दर्ज करते ही च्वॉइस लॉक हो जाएगा। स्टूडेंट्स ध्यान रखें कि वे अपना ही मोबाइल नंबर या फिर पैरेंट्स का मोबाइल नंबर ही दर्ज करें। ताकी उन्हें एडमिशन से जुड़ी अपडेट मिलती रहे।
3. ई-सत्यापन की प्रक्रिया

यदि स्टूडेंट एमपी बोर्ड,ओपन बोर्ड, सीबीएसई से पास है तो उनका डॉक्यूमेंट्स तत्काल सत्यापित हो जाएगा। इसके लिए उन्हें सत्यापन केन्द्र भी नहीं जाना पड़ेगा। इसके अतिरिक्त आरक्षित वर्ग के विद्यार्थी अपने जाति प्रमाण को भी औनलाइन सत्यापित कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें जाति प्रमाण लेटर का नंबर दर्ज करना पड़ेगा।
4. नहीं होगा सत्यापन तो जाना पड़ेगा
स्टूडेंट एमपी बोर्ड, ओपन बोर्ड, सीबीएसई से पास हैं, लेकिन आरक्षण/अधिभार लेना चाहते या फिर बाहरी बोर्ड के स्टूडेंट हैं तो उन्हें सत्यापन केन्द्र पर जरूरी रूप से जाना होगा।

5. मेरिट लिस्ट
स्टूडेंट के ई-सत्यापन व केन्द्र पर हुए सत्यापन के बाद विभाग स्तर पर मेरिट लिस्ट तैयार होगी

6. अलॉटमेंट
मेरिट लिस्ट के आधार पर स्टूडेंट्स को उनकी च्वॉइस वाले कॉलेज में अलॉटमेंट पत्र जारी किया जाएगा।

7. फीस
स्टूडेंट जैसे ही अलॉटमेंट पत्र डाउनलोड करेंगे, उनके पास ओटीपी पहुंचेगा व औनलाइन फीस जमा करने की लिंक मिलेगी। ओपीटी दर्ज कर नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई/वॉलेट के जरिए विद्यार्थी कोर्स की 50% फीस राशि जमा कर एडमिशन ले सकेंगे।