17 विधायकों ने दिया था इस्‍तीफा, ये हैं बड़ा कारण

17 विधायकों ने दिया था इस्‍तीफा, ये हैं बड़ा कारण

कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए गुरुवार को मतदान हो रहा है। बीजेपी व विपक्षी कांग्रेस पार्टी सभी 15 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं जद-एस सिर्फ 12 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। 

इन सीटों पर 126 निर्दलीय व नौ स्त्रियों समेत कुल 165 उम्मीदवार मैदान में हैं। इन सीटों पर लगभग 38 लाख मतदाता हैं, जिनमें 19.25 लाख पुरुष व 18.52 लाख महिलाएं हैं। इन उपचुनावों पर बीजेपी की बीएस येदियुरप्पा सरकार का भविष्य टिका है। सरकार बचाने के लिए वैसे बीजेपी को वैसे तो सात सीटें चाहिए, मगर पार्टी ने कम से कम आठ सीटें जीतने का लक्ष्‍य रखा है।

17 विधायकों ने दिया था इस्‍तीफा
उल्लेखनीय है कि 224 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस पार्टी व जनता दल (सेक्‍युलर) के कुल 17 विधायकों के त्याग पत्र देने से बीती जुलाई में कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार गिर गई थी। वहीं इन विधायकों के इस्तीफे के कारण बहुमत के आंकड़े के कम होकर 104 पहुंच गया व उसके बाद बीजेपी ने 105 विधायकों के साथ सरकार बनाई थी।

इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों को तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार देकर उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी। मगर, उच्चतम न्यायालय ने नवंबर में इन अयोग्य करार दिए गए विधायकों को चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी। जिसके बाद बीजेपी ने चुनाव वाली 15 सीटों पर उन्हीं अयोग्य विधायकों को टिकट दिया है।

वैसे तो विधायकों के इस्तीफे से खाली हुईं कुल 17 सीटों पर चुनाव होना है। मगर दो सीटों का मुद्दा न्यायालय में होने के कारण वैसे 15 सीटों पर ही पांच दिसंबर को उपचुनाव हो रहा है। उपचुनाव के नतीजे नौ दिसंबर को आएंगे।

इस समय कर्नाटक में कुल 207 विधायक हैं। बहुमत के लिए महत्वपूर्ण 104 से एक अधिक 105 विधायक बीजेपी के पास हैं। अब 15 व विधायकों के चुनाव के बाद सदन की मेम्बर संख्या 222 हो जाएगी। ऐसे में बहुमत के लिए बीजेपी को 112 विधायक चाहिए। लिहाजा इस उपचुनाव में सात सीटें जीतने पर बीजेपी की येदियुरप्पा सरकार को बहुमत हासिल हो जाएगा। लेकिन बीजेपी कम से कम आठ सीटें जीतना चाहती है।

खाली हुई दो अन्य सीटों पर भी आगे चुनाव होंगे, जिससे बहुमत का आंकड़ा 113 हो जाएगा। ऐसे में बीजेपी इसी उपचुनाव में पूरा बहुमत हासिल करने के लिए लड़ रही है।

जिन सीटों पर पांच दिसंबर को मतदान हो रहा है, वे सीटें- अथानी, कागवाड, गोकक, येल्लापुरा, हीरेकपुर, रानीबेन्नूर, विजयनगर, चिकबल्लापुरा, के। आर। पुरा, यशवंतपुरा, महालक्ष्मी लेआउट, शिवाजीनगर, होसाकोट, के। आर। पेटे व हुनसुर हैं। दो सीटों मस्की व राजराजेश्वरी का मुद्दा न्यायालय में होने के कारण वैसे वहां उपचुनाव नहीं हो रहे हैं।