पुलिस एनकाउंटर में चारों आरोपितों के घरवाले गहरे सदमे में , यह हैं कारण

पुलिस एनकाउंटर में चारों आरोपितों के घरवाले गहरे सदमे में , यह हैं कारण

पुलिस एनकाउंटर में चारों आरोपितों के मारे जाने से जहां लोग खुशी मना रहे हैं, वहीं उनके घरवाले गहरे सदमे में हैं. उन्हें ये तो लग रहा था कि उनके बच्चों को सजा मिलेगी, लेकिन इस तरह वो मारे जाएंगे इसकी उम्मीद नहीं थी. मुख्य आरोपित मोहम्मद आरिफ की मां इस समाचार के बाद से ही सदमे में है. वह सिर्फ इतना ही कह पा रही है कि उसका बेटा चला गया. उसके पिता ने पहले बोला था कि अगर उनके बेटे ने क्राइम किया है तो उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए.

आरोपितों में से एक केशवुलू की हाल ही में विवाह हुई थी. उसकी पत्नी रेनूका गहरे सदमे में है. उसने पत्रकारों से बोला कि उसे भी उसके पति के पास लेकर पुलिस मार डाले. रेनूका ने बोला कि उससे बोला गया था कि उसके पति को कुछ नहीं होगा व वो वापस आ जाएगा.

जोलू शिवा के पिता ने बोला कि होने कि सम्भावना है कि उनके पुत्र ने क्राइम किया हो, लेकिन वो ऐसे अंत का हकदार नहीं था. कई लोग बलात्कार व हत्याएं करते हैं, लेकिन वे इस तरह से नहीं मारे जाते. दूसरों को भी इसी तरह से क्यों नहीं मारा जाता.

वहीं, लोकल लोगों का बोलना था कि गरीब परिवार से संबंध रखने वाले चारों आरोपित अच्छा कमाते थे. लेकिन अपनी कमाई शराब पर उड़ा देते थे. उन्होंने बताया कि आरिफ ट्रक चलाने से पहले एक पेट्रोल पंप पर कार्य करता था. लोगों ने बताया कि केशवुलू किडनी की बीमारी से पीड़ित था.