शनि देव की टेढ़ी नजर से बचने के लिए जरूर करें ये खास उपाय!

शनि देव की टेढ़ी नजर से बचने के लिए जरूर करें ये खास उपाय!

सभी देवी-देवताओं में शनिदेव न्याय के देवता कहलाता है। माना जाता है कि वे हर किसी को उनके कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं। वे अच्छे कर्म करने वाले पर अपनी असीम कृपा बरसाते हैं। वहीं बुरे कर्म करने वाले को दंड देते हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, शनिदेव के दिन यानि शनिवार के लिए कुछ उपाय करने से कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत होती है। ऐसे में शनि महाराज की असीम कृपा पाने के लिए आज हम आपको कुछ उपाय बताते हैं...

- इस दिन काली गाय को उड़द दाल खिलाना, तेल या तिल खिलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

- न्याय के देवता शनिदेव की पूजा हमेशा सूर्य निकलने से पहले या सूर्यास्त के बाद होती है। इसलिए शनिवार के दिन सूर्योदय से पहले या बाद में पीपल के वृक्ष की पूजा करें। इसके लिए सरसों के तेल में लोहे के कील डालकर पीपल पेड़ पर अर्पित करें। मान्यता है कि इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

- शनिदेव की कृपा पाने के लिए सरसों तेल से शनि महाराज की मूर्ति पर तेल अर्पित करें। यह उपाय शनिवार के दिन से शुरू करके करीब 43 दिनों तक करें। मगर रविवार को ऐसा करने से बचें।

- घर के मंदिर में शनिवार के दिन शनि यंत्र स्थापित करें। साथ ही रोजाना यंत्र के आगे सरसों तेल का दीपक जलाकर विधि-विधान से पूजा करें। मान्यता है कि इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं। इससे कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत होती है।

- इस दिन कच्चा सूत का धागा लेकर पीपल पेड़ के चारों तरफ बांधे। साथ ही शनि मंत्रों का जप करें। कहा जाता है कि इससे शनिदेव जी असीम कृपा मिलती है।

- हो सके तो शनिदेव की कृपा पाने के लिए शनिवार को उपवास रखें। इसके अलावा इस दिन दान करने से भी कुंडली में शनि की स्थिति शांत होती है।

- मान्यता है कि शनिवार के दिन हनुमान चालीसा का पाठ करने से शनिदेव की असीम कृपा मिलती है। साथ ही कुंडली में शनिदोष व साढ़े साती का प्रभाव कम होता है।

- शनिदेव न्याय के देवता कहलाने वाले हैं। वे गरीबों, बेसहारों व जरूरतमंदों की मदद करने वाले पर अपनी असीम कृपा बरसाते हैं। इसलिए कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत करने के लिए इस किसी गरीब, जरूरतमंद, बेसहारा को खाना खिलाएं या दवा दिलाएं।


शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिदेव को न्याय और दण्ड का देवता माना जाता है। मान्यता है कि शनिदेव प्रत्येक व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुरूप फल प्रदान करते हैं। लेकिन कई बार व्यक्ति को कुण्डली में व्याप्त शनिदोष के कारण कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसी कारण कई बार बहुत परिश्रम करने के बाद भी व्यक्ति को नौकरी में सफलता नहीं मिल पाती है। या फिर उसमें कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है। भारतीय ज्योतिष में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं जिनकों अपना कर शनिदोष को शांत किया जा सकता है। इन उपायों को अपना कर नौकरी में आने वाली बाधा को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं शनिदेव को प्रसन्न करने के कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अपनाने से नौकरी में आने वाली बाधाओं को दूर किया जा सकता है...


1- शनिवार के दिन 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। मान्यता है कि हनुमान जी के प्रसन्न होने से शनिदेव स्वयं प्रसन्न होते हैं और सारी दिक्कतें दूर करते हैं।

2- व्रत के शनिवार को सुबह उठकर सरसों के तेल में अपनी छाया देख कर छायादान कर दें। और शाम को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया जलाएं।

3- अगर शनि की कृदृष्टि के कारण नौकरी में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो शनिवार का व्रत रखना लाभदायक होता है। कम से कम 7 शनिवार लगातार शनिवार का व्रत करने से सारी बाधाएं दूर होती हैं।


4- अगर नौकरी में प्रमोशन की समस्या है तो चींटियों को शनिवार के दिन आटा खिलाएं। ऐसा करने से प्रमोशन में आने वाली बाधा दूर होगी।

5- शनिवार के दिन 11 गरीब और जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाएं और दान करें। ऐसा करने से नौकरी और व्यापार के क्षेत्र में आने वाली समस्या दूर होती हैं।