लैपटॉप से निकलने वाली ब्लू रोशनी से चेहरे की स्किन को होता हैं नुकसान, पढ़े

लैपटॉप से निकलने वाली ब्लू रोशनी से चेहरे की स्किन को होता हैं नुकसान, पढ़े

आज की बेकार जीवन-शैली और अनहेल्दी खानपान के कारण लोगों में पिंपल्स की समस्या बेहद आम है. जहां लोग अपनी खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए लाखों ढंग अपनाते हैं वहीं,

एक पिंपल आपके चेहरे को बिगाड़ने के लिए बहुत ज्यादा है. कई बार तो चेहरे पर किए गए ब्यूटी उत्पाद व ब्यूटी ट्रीटमेंट्स के कारण भी चेहरा इतना सेंसेटिव हो जाता है कि उस पर बार-बार पिंपल्स निकल आते हैं. लोग इनसे छुटकारा पाने के लिए तमाम ढंग अपनाते हैं. आज के व्यस्त दिनचर्या में लोग अपना अधिकांश समय फोन व लैपटॉप के सामने ही बिताते हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि इन गैजेट्स से निकलने वाली ब्लू रोशनी भी स्किन को डैमेज कर सकता है. आइए जानते हैं कैसे-

ब्लू रोशनी व स्किन: फोन व लैपटॉप से निकलने वाली ब्लू रोशनी से चेहरे की स्किन टैन हो जाती है. टैनिंग के अलावा, ब्लू रोशनी से फोटो एजिंग, स्कीन में सूजन, झुर्रियां व हाइपर-पिगमेंटेशन की समस्या भी हो सकती है. बता दें कि ब्लू रोशनी एक हाई-एनर्जी रोशनी है जिसकी वेवलेंथ कम होती है. ज्यादा देर तक इस लाइट के सम्पर्क में रहने से स्किन के अलावा, आंखों पर दबाव, सिर दर्द व थकान की कठिनाई हो जाती है.

फोन व पिंपल्स: अधिक देर तक मोबाइल चलाने से दिमाग के साथ-साथ स्किन पर भी नेगेटिव प्रभाव पड़ता है. एक स्टडी की मानें तो Smart Phone का ज्यादा इस्तेमाल करने वाले लोगों में मुंहासों की समस्या दूसरों की तुलना में अधिक है. इसके पीछे वजह ये बतायी जाती है कि जब हम बहुत ज्यादा देर तक Smart Phone को कान में लगाकर बात करते हैं तो उसमें चिपके कई तरह के बैक्टीरिया हमारी स्किन के पोर्स में चले जाते हैं, जिससे मुंहासे हो सकते हैं. वहीं, ये अनदेखे बैक्टीरिया फोन के जरिये हमारे हाथों में भी चले जाते हैं व जब हम उसी हाथ से अपने चेहरे को छूते हैं तो उससे भी पिंपल्स निकल आते हैं.


ऐसे करें बचाव: ब्लू रोशनी से स्किन को ज्यादा डैमेज रात को पहुंचता है, जब आप फोन का प्रयोग अंधेरे में करते हैं. ऐसे में महत्वपूर्ण है कि आप अपने फोन में नाइट टाइम मोड को ऑन रखें, इससे स्क्रीन का रंग ब्लू से येलो हो जाता है. इसके अलावा, अपने फोन को चेहरे के ज्यादा समीप भी नहीं रखना चाहिए. एंटी-ऑक्सीडेंट्स का सेवन ब्लू रोशनी से हुई डैमेज को कंट्रोल करने में मददगार है. इसलिए खाने में एंटी-ऑक्सीडेंट के साथ ही, इससे भरपूर स्किन केयर प्रोडक्ट्स का प्रयोग करना चाहिए. इसके अलावा, स्किन केयर के लिए नाइट रूटीन को अनुसरण करना महत्वपूर्ण है. वहीं, अगर आपको फोन पर ज्यादा देर तक गप्पें लड़ाना है तो ईयर फोन का प्रयोग करें.