वेट लॉस में जादू की तरह काम कर सकती हैं चाय, जानिए

वेट लॉस में जादू की तरह काम कर सकती हैं चाय, जानिए
आज के समय में वेट लॉस करना किसी जंग को जीतने से कम नहीं है। अत्यधिक तनाव से लेकर नींद कम लेना और खानपान में कोताही के कारण लोगों का वजन तेजी से बढ़ता है और फिर वे उसे कम करने की जद्दोजहद में जुट जाते हैं। हालांकि, वेट लॉस करना इतना भी आसान नहीं होता है। कड़ी मशक्कत के बाद भी लोग अपना वजन कम करने में सफल नहीं हो पाते हैं। ऐसा इसलिए भी होता है, क्योंकि उनका मेटाबॉलिज्म काफी स्लो होता है। हालांकि, अगर आप अपने मेटाबॉलिज्म को बूस्ट अप करके वेट लॉस को स्पीड अप करना चाहते हैं तो तरह-तरह की चाय को अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको इन चाय के बारे में बता रहे हैं, जो वजन कम करने में आपकी मदद करेंगी-
ग्रीन टी
अगर वेट लॉस के लिए चाय की बात हो तो उसमें सबसे पहला नाम ग्रीन टी का लिया जाता है। दरअसल, ग्रीन टी फैट ऑक्सीडेशन को बढ़ाने में मदद कर सकती है, जिसका अर्थ है कि यह वसा को ऊर्जा में बदलने में मदद करती है, जिससे वेट लॉस करने में मदद मिलती है। इसके अलावा, ग्रीन टी में एंटीऑक्सिडेंट्स पाया जाता है, जो एक्सरसाइज के दौरान फैट को बर्न करने में मददगार है।
ब्लैक टी 
ग्रीन टी के अलावा ब्लैक टी भी वेट लॉस में बेहद मददगार है। दरअसल, ग्रीन टी की ही तरह ब्लैक टी भी कैमेलिया साइनेंसिस पौधे की पत्तियों से बनाई जाती है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। इतना ही नहीं, ब्लैक टी में मौजूद पॉलीफेनोल्स कैलोरी काउंट को कम करने और फैट ब्रेकडाउन की मदद से वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।
हिबिस्कस टी
हिबिस्कस टी एक प्रकार की हर्बल चाय है जो फूल वाले हिबिस्कस पौधे से बनाई जाती है। कुछ अध्ययनों से यह पता चलता है कि अगर हिबिस्कस टी को डेली डाइट का हिस्सा बनाया जाए तो इससे मोटापे से काफी हद तक बचा जा सकता है। चूंकि, यह एक हर्बल टी है और इसमें कैफीन नहीं होता है, इसलिए आप इसका आनंद दिन में किसी भी समय ले सकते हैं।
ऊलोंग टी
ऊलोंग टी को वेट लॉस के लिए बेहद ही प्रभावी माना जाता है। दरअसल, ऊलोंग टी आपकी बॉडी के फैट को मेटाबोलाइज करने के तरीके में सुधार करता है, जिससे आपको वजन घटाने में मदद मिलती है। ऊलोंग टी का टेस्ट भी काफी अच्छा होता है, इसलिए आप बिना किसी परेशानी के ऊलोंग टी का सेवन आसानी से कर सकते हैं।

अपने दांतों से है प्यार तो सही Toothbrush का करे चुनाव, इन बतों का रखे ध्यान

अपने दांतों से है प्यार तो सही Toothbrush का करे चुनाव, इन बतों का रखे ध्यान

 Buying a Toothbrush: हर रोज नींद से जगने के बाद हम सबसे पहले जिस चीज का इस्तेमाल करते हैं वो है टूथब्रश. हम टूथब्रश का रोजाना इस्तेमाल करते हैं लेकिन हमारा कभी भी इस ओर ध्यान नहीं जाता है कि यह हमारे दांतो और मसूड़ों के लिए सही है या नहीं. यही वजह है कि इसे खरीदते समय हम सबसे ज्यादा लापरवाही कर जाते हैं. अक्सर हम सस्ते के चक्कर में खराब टूथब्रश खरीद लेते हैं.

लेकिन क्या आपको पता है कि अगर हमारा टूथब्रश सही नहीं होगा तो यह हमारे दांतो और मसूड़ों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है. इसलिए टूथब्रश खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए. ऐसे में हम यहां आपको बताएंगे कि आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. चलिए जानते हैं.

सॉफ्ट ब्रिसल्स चुनें- टूथब्रश वही अच्छा होता है जिसके ब्रिसल्स बिल्कुल सॉफ्ट हों. ऐसे ब्रिसल्स वाले टूथब्रश से मसूड़े डैमेज नहीं होते हैं. वहीं अगर टूथब्रश के ब्रिसल्स हार्ड होते हैं तो मसूड़े छुल जाते हैं जिसके कारण मसूड़ों में ब्लीडिंग होना, दर्द होना शुरू हो जाता है. इसलिए टूथब्रश खरीदते समय सॉफ्ट ब्रिसल्स वाला ब्रश ही चुनें.

ग्रिप वाले टूथब्रश- मार्केट में कई तरह के टूथब्रश उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ में रबर ग्रिप होती है तो कुछ में नहीं होती हैं एक अच्छा ब्रश खरीदना चाहती हैं तो ग्रिप वाले ब्रश ही खरीदें क्योंकि यह पकड़ को बनाए रखने में मदद करते हैं और दातों बेहतर तरीके से साफ करते हैं.

ब्रांड का रखें ध्यान- बिना ब्रांड वाले ब्रश लेने बचें. इस तरह के टूथब्रश के ब्रसल्स से लेकर किसी तरह की टेस्टिंग नहीं हुई होती है और इन्हे सिर्फ बेचने के लिहाज से बाजार में उतारा जाता है. ऐसे में ये दांतों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकते हैं.