औषधीय सेवईं बना क्यों आती हैं लोगो को अधिक पसंद, जानिए

औषधीय सेवईं बना क्यों आती हैं लोगो को अधिक पसंद, जानिए

कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए अब की बार लोग बकरीद पर औषधीय सेवईं बना रहे हैं. ये लोगों को बहुत ज्यादा पसंद आ रही हैं. खोवा के साथ काजू, बादाम डालकर सेवइयां तैयार की जा रहीं हैं. इसके साथ ही लोग कोल्ड ड्रिंक की स्थान काढ़ा पी रहे हैँ. मस्जिदों के बाहर लोगों को नीबू पानी दिया जा रहा है. 

कोरोना को देखते हुए बकरीद पर इस बार रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले पकवानों को तरजीह दी जा रही है. साथ ही ठंडे पानी की स्थान लोगों को गर्म पानी दिया जा रहा है.


ईद से पहले बाजारों में जमकर उमड़ी भीड़-
शुक्रवार को जुमा की नमाज सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए की गई. नमाज के बाद लोग बकरीद की तैयारियों में जुट गए व जमकर बाजारों में खरीदारी की.

इस बार त्योहारों पर कोरोना का ग्रहण साफ देखने को मिल रहा है. बकरीद की सामूहिक नामाज भी घरों में अदा की जा रही है. कोरोना के चलते लोग अपने इलाके-मुहल्लों में गले मिलकर एक-दूसरे को ईद की शुभकामना भी नहीं दे पा रहे. पांच -पांच लोगों के ग्रुप में नमाज अदा कर रहे हैं.

युवा तनवीर हसन का बोलना है कि उसके सबसे बड़े त्योहार ईद के बाद यह दूसरा त्यौहार है जो कोरोना के कारण फीका है. यूपी में वीकेंड पर मार्केट बंद होने  के कारण लोगों ने शुक्रवार को जमकर खरीददारी की. धर्मगुरुओं ने लोगों से अपील की है कि कोरोना व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बकरीद मनाई जाएगी.