जानिए, सेक्स से जुडी यह खास व लाभदायक बातें

जानिए, सेक्स से जुडी यह खास व लाभदायक बातें

यह बात आज सभी के मन में सवाल पैदा कर रही है कि क्या सेक्स करना सेहत के लिए अच्छा होता है, यान फिर अपनी उत्तेजना को शांत करने के लिए अलग अलग तरीके अपनाना वह शारीरिक जीवन के लिए लाभदायक है या नहीं तो चलिए जानते है इसके बारें में ...

सेक्स क्या है?: जैविक आधारों पर व्यक्ति की पहचान, जैसे- पुरुष व महिला होना, सेक्स है. इसके आलावा दो व्यक्ति के बीच होने वाले शारीरिक संबंधों को भी आम बोलचाल में सेक्स कहा जाता है.  
 
सुरक्षित सेक्स क्या होता है?: जब आप साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाते समय सुरक्षा व बचाव के उपायों को अपनाते हैं, तो उसको सुरक्षित सेक्स कहा जाता है. कंडोम का प्रयोग, महिलाओं के प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए किए गए उपाय व यौन संचारित रोग व संक्रमण यानि एसटीडी व एसटीआई से बचने के लिए अपनाए गए उपायों को सुरक्षित सेक्स की श्रेणी में रखा जाता है. 
 
ओरल सेक्स क्या है?: ओरल सेक्स में मुंह और जीभ के प्रयोग से साथी के प्रजनन अंग, संवेदनशील अंग और एनल को उत्तेजित किया जाता है. ओरल सेक्स, सामान्य सेक्स का ही एक प्रकार है. 
 
एनल सेक्स क्या है?: एनल सेक्स में एक साथी अपने लिंग को दूसरे साथी के एनल यानि गुदा में प्रवेश कर सेक्स करता है. 
 
सेक्स तकनीक क्या है?: सेक्स करने के लिए निश्चित तकनीक को अपनाया जाता है. सेक्स क्या है और किस प्रकार से आप सेक्स लाइफ को बेहतर और मजेदार बना सकते हैं, यह आप पर ही निर्भर करता है. सेक्स को करने से पहले आपको सेक्स के फायदे और नुकसान पता होने चाहिए. इसके अलावा आप सेक्स के दौरान किस करने के तरीके, इसमें लुब्रिकेशन का इस्तेमाल, फोरप्ले, सेक्स के लिए व्यायाम, सेक्स के लिए योग, हस्तमैथुन, कामेच्छा को बढ़ाने के उपाय व चरम सुख (ऑर्गेज्म) के लिए क्या करें, यह सभी ऐसे विषय हैं जिसकी बारे में आपको पूरी जानकारी होनी चाहिए. 

सहमति लेना बेहद जरूरी: आपको अपने साथी के साथ सेक्स करने पूर्व उसकी सहमति के बारे में भी जाना लेना चाहिए. अगर सामने वाले साथी की सहमति न हो, तो आप सेक्स न करें. यदि कभी साथी इस गतिविधि में शामिल होने के लिए हां नहीं कहता/ कहती तो आप इसका यह अनुमान कतई न लगाएं कि उनकी खामोशी ही हां है. वहीं जब आपका साथी इस बारे में मिली जुली प्रतिक्रिया दे तो आप उनसे दोबारा पूछ सकते हैं कि क्या वह सेक्स को करना चाहते हैं? सामने वाले की इच्छा जानना ही उनकी सहमति कहलाती है.
 
यौन उत्पीड़न: किसी भी महिला या पुरुष पर शारीरिक व मानसिक दबाव डालकर बनाए गए शारीरिक संबंधों को यौन उत्पीड़न की श्रेणी में रखा जाता है. किसी के साथ भी बल पूर्वक किया गया सेक्स यौन उत्पीड़न होता है. (और पढ़ें - सेक्स के दौरान की जाने वाली गलतियां) 
 
यौन शोषण: किसी के भी साथ उसकी इच्छा के विरुद्ध कुछ अश्लील बात कहना, बोलना, गलत तरह से छूना या फिर कोई गलत तरह का इशारा करना यौन शोषण माना जाता है.
 
बलात्कार: बल पूर्वक किसी के भी साथ किया गया सेक्स, जिसमें योनि, एनल या ओरल सेक्स शामिल होता है उसको बलात्कार या रेप कहा जाता है. शरीर के किसी अंग या बाहरी वस्तु को किसी महिला के जननांगों या संवेदनशील अंगों में प्रवेश करना बलात्कार या रेप होता है. यह भारतीय दंड सहिंता के अंतर्गत एक दंडनीय अपराध है. दोषी को कम से कम सात वर्ष से उम्र कैद तक की सजा हो सकती है.