जानिए आखिर शेर कैसे बना मां दुर्गा की सवारी?

जानिए आखिर शेर कैसे बना मां दुर्गा की सवारी?

मां दुर्गा की सवारी शेर है ये तो हम सभी जानते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि देवी दुर्गा की सवारी शेर कैसे बना ? अगर नहीं तो आइए आज जानते हैं एक ऐसी पौराणिक कथा के बारे में, जो बताती है कि आखिर मां दुर्गा शेर पर ही क्यों सवार हुईं और कैसे उनका नाम शेरावाली पड़ा।

पार्वती से महागौरी बनने की कहानी

मां दुर्गा के कई रूपों में से एक रूप देवी पार्वती का भी है। पार्वती जी भगवान शिव को पति के रूप में पाना चाहती थीं। इससे पहले शिव को पाने के लिए पार्वती ने कई वर्षों तक तपस्या की थी, इसके चलते उनके शरीर का रंग गोरा से सांवला पड़ गया था। एक दिन भगवान शिव और देवी पार्वती कैलाश पर्वत पर बैठकर हंसी मजाक कर रहे थे, तभी शिव जी ने मां पार्वती को काली कह दिया। शिव जी की ये बात पार्वती जी को चुभ गई और वो एक बार फिर अपने गौर रूप को पाने के लिए कैलाश छोड़कर फिर से तपस्या करने में लीन हो गईं।

शेर ऐसे बना मां दुर्गा की सवारी

देवी पार्वती को तपस्या करते देख एक भूखा शेर देवी का शिकार करने के लिए वहां पहुंचा, लेकिन मां पार्वती तपस्या में इतनी लीन थी कि शेर काफी समय तक भूखे-प्यासे देवी पार्वती को चुपचाप निरंतर देखता रहा। देवी पार्वती को देखते-देखते शेर ने सोचा कि जब वो तपस्या से उठेंगी, तो वो उनको अपना आहार बना लेगा। लेकिन कई वर्ष बीत गए और ऐसा नहीं हो सका। देवी पार्वती की तपस्या जब पूर्ण हुई, तो भगवान शिव प्रकट हुए और मां पार्वती को गौरवर्ण यानी मां गौरी होने का वरदान दिया। तभी से मां पार्वती महागौरी कहलाने लगीं।

शेर को भी मिला उसकी तपस्या का फल

तपस्या पूरी होने पर मां पार्वती ने देखा कि शेर भी उनकी तपस्या के दौरान भूखा-प्यास बैठा रहा। ऐसे में शेर को भी उसकी तपस्या का फल मिलना चाहिए, तो उन्होंने शेर को अपनी सवारी बना लिया। इस तरह से सिंह यानि शेर, मां दुर्गा की सवारी बना और मां दुर्गा का नाम शेरावाली पड़ा।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'


अपने होने वाले पति के लिए सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

अपने होने वाले पति के लिए सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

हमारे ज्योतिष शास्त्र में कई बातें बताई गयी हैं जो भविष्य पहुँचाने वाली हैं। किसी भी व्यक्ति के स्वभाव, व्यक्तित्व और भविष्यफल का अंदाजा उसकी राशि से ही लगाया जाता है। केवल यही नहीं बल्कि हर राशि का एक स्वामी ग्रह भी होता है। आज हम आपको उन राशि वाली लड़कियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने पति के लिए भाग्यशाली मानी जाती है।

सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

# वृश्चिक राशि की लड़कियां जिस घर में जाती हैं वहांधन-संपदा की कमी नहीं होती है। केवल यही नहीं बल्कि इस राशि की लड़कियां अपने पति के लिए ईमानदार होती हैं।


# मेष राशि की लड़कियां बुद्धिमान और समझदार होती हैं। इसी के साथ यह अपने आसपास के लोगों को हमेशा खुश रखना चाहती हैं। इस राशि की लड़कियां अपने पति के लिए लकी मानी जाती हैं।

# कुंभ राशि की लड़कियां आत्मविश्वासी और स्वतंत्र विचारों वाली होती हैं। यह अपने ससुराल में खुशियां बिखेरती हैं। केवल यही नहीं बल्कि यह कठिन से कठिन समय में अपने पति का साथ नहीं छोड़ती हैं।


# मीन राशि की लड़कियां भावुक और ख्याल रखने वाली होती हैं। यह अपने पति की खुशियां का ख्याल रखती हैं।