इन चीजों की सफाई को सबसे ज्यादा लोग करते हैं अनदेखा, जाने

इन चीजों की सफाई को सबसे ज्यादा लोग करते हैं अनदेखा, जाने

कोरोना संक्रमण की दस्तक के बाद लोग साफ-सफाई को लेकर ज्यादा सजग हो गए हैं. हालांकि, रोजमर्रा में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाली कुछ चीजों पर उनका ध्यान नहीं जाता, जिससे वे कीटाणुओं

का अड्डा बनकर उभरने लगते हैं. हेनरी पैटरसन व लिनसे क्रॉम्बी जैसे प्रसिद्ध संक्रामक रोग विशेषज्ञों ने अपने हालिया अध्ययन में पाया है कि लोग किन चीजों की सफाई को सबसे ज्यादा अनदेखा करते हैं. उन्होंने यह भी बताया है कि इन चीजों को कितने अंतराल के बाद कैसे साफ करना चाहिए.

टीवी रिमोट
-हफ्ते में एक बार

-सूती कपड़े पर थोड़ा-सा डिसइंस्फेक्टेंट छिड़ककर रिमोट को उससे अच्छी तरह से पोछें. बटन के बीच के हिस्सों में जमी गंदगी को हटाने के लिए टूथपिक व ईयरबड का सहारा लें.

स्मार्टफोन
-दिन में एक बार

-फोन पर डिसइंफेक्टेंट छिड़ककर सूती कपड़े से अच्छे से पोछें. ध्यान रखें कि इस दौरान डिसइफेक्टेंट कैमरा, स्पीकर या चार्जिंग प्वाइंट में न जाए. सफाई के कम से कम दो घंटे बाद ही फोन को चार्ज होने के लिए लगाएं.

चार्जर
-सप्ताह में एक बार

-मोबाइल ही नहीं, चार्जर भी आदमी के साथ जगह-जगह घूमता है. ऐसे में उसे कीटाणुओं का अड्डा बनने से रोकने के लिए सप्ताह में एक बार डिसइंफेक्टेंट से जरूर साफ रखें. इस दौरान चार्जर को प्लग से निकालना न भूलें.

ईयरफोन
-हर तीसरे-चौथे दिन

-ईयरफोन पर डिसइंफेक्टेंट छिड़कने के बाद उसे ईयरबड से साफ करें. ध्यान रखें कि डिसइंफेक्टेंट ईयरफोन में उपस्थित छिद्रों में न जाए. सफाई के दौरान यह न ही फोन से जुड़ा हो, न ही चार्ज होने के लिए लगा हो.

हेडफोन
-पांच दिन में एक बार

-कपड़े पर डिसइंफेक्टेंट छिड़कें व सारे हेडफोन को अच्छी तरह से पोछें. सफाई के समय यह सुनिश्चित करें कि हेडफोन चार्ज में न लगा हो. प्रयोग से पहले डिसइंफेक्टेंट को अच्छी तरह से सुखा जरूर लें.

गेम कंसोल
-हर दूसरे सप्ताह

-टीवी रिमोट की तरह ही गेम कंसोल व जॉयस्टिक को भी डिसइंफेक्टेंट और ईयरबड की मदद से साफ करें. ध्यान रखें कि इस दौरान कंसोल का प्लग स्विच बोर्ड से बाहर निकला हुआ होना चाहिए.

माउस
-महीने में एक मरतबा

-कंप्यूटर माउस को महीने में एक बार एल्कोहल वाइप से पोछने पर उस पर कीटाणु नहीं इकट्ठा होंगे. निचले हिस्से पर गंदगी जमने के कारण माउस के अच्छा से कार्य करने की शिकायत भी नहीं सताएगी.

की-बोर्ड
-एल्कोहल वाइप से कीबोर्ड को हल्के हाथों से पोछें. ‘की’ के बीच जमी गंदगी को निकालने के लिए टूथपिक व ईयरबड की मदद लें. कंप्यूटर के ऑन रहते हुए कीबोर्ड की सफाई भूलकर भी न करें.

सावधान
-10 गुना ज्यादा बैक्टीरिया पाए गए थे Smart Phone पर टॉयलेट सीट के मुकाबले ऑगस्टा यूनिवर्सिटी के अध्ययन में
-92% दूसरों से ईयरफोन साझा करने वाले उपभोक्ता के कान में खतरनाक जीवाणु मिले थे मनीपाल यूनिवर्सिटी के शोध में