रुद्राक्ष पहनने से पहले ऐसे करें असली और नकली रुद्राक्ष की पहचान

रुद्राक्ष पहनने से पहले ऐसे करें असली और नकली रुद्राक्ष की पहचान

रुद्राक्ष की माला पहनने से इंसान बहुत सारी बीमारियों से दूर रहता हैं लेकिन इस माला को पहनने का तरीका अन्य मालाओं के पहनने से अलग होता हैं क्योंकि यह बात ज्योतिष शास्त्र मे बताया गया हैं। हमेशा असली रुद्राक्ष की माला ही पहननी चाहिए तभी लाभ मिलता है।  ऐसे जाने रुद्राक्ष असली है या नकली...

# असली रुद्राक्ष के केंद्र में नेचुरली छेद होते हैं और नकली रुद्राक्ष के केंद्र में हाथों से छेद किया जाता हैं और उसे गोल आकार दिया जाता हैं।

# आप जब भी रुद्राक्ष अपने घर ले आए तो उसे सबसे पहले सरसों के तेल में डुबो कर जरूर देख क्योंकि असली रुद्राक्ष कलर नहीं छोडता हैं जबकि नकली रुद्राक्ष कलर छोड़ देता है।

# रुद्राक्ष को पानी में भी डालकर देख सकते है क्योंकि असली रुद्राक्ष पानी में डूब में जाता हैं लेकिन नकली रुद्राक्ष पानी में तैरता हैं।

# यदि आप असली रुद्राक्ष को किसी नुकीली चीज से कुरेदेंगे तो उसमें से रेशे निकलते हैं लेकिन वहीं दूसरी ओर नकली रुद्राक्ष को यदि आप कुरदते हैं तो उसमें से रेशे नहीं निकलते हैं।


शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिदेव को न्याय और दण्ड का देवता माना जाता है। मान्यता है कि शनिदेव प्रत्येक व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुरूप फल प्रदान करते हैं। लेकिन कई बार व्यक्ति को कुण्डली में व्याप्त शनिदोष के कारण कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसी कारण कई बार बहुत परिश्रम करने के बाद भी व्यक्ति को नौकरी में सफलता नहीं मिल पाती है। या फिर उसमें कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है। भारतीय ज्योतिष में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं जिनकों अपना कर शनिदोष को शांत किया जा सकता है। इन उपायों को अपना कर नौकरी में आने वाली बाधा को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं शनिदेव को प्रसन्न करने के कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अपनाने से नौकरी में आने वाली बाधाओं को दूर किया जा सकता है...


1- शनिवार के दिन 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। मान्यता है कि हनुमान जी के प्रसन्न होने से शनिदेव स्वयं प्रसन्न होते हैं और सारी दिक्कतें दूर करते हैं।

2- व्रत के शनिवार को सुबह उठकर सरसों के तेल में अपनी छाया देख कर छायादान कर दें। और शाम को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया जलाएं।

3- अगर शनि की कृदृष्टि के कारण नौकरी में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो शनिवार का व्रत रखना लाभदायक होता है। कम से कम 7 शनिवार लगातार शनिवार का व्रत करने से सारी बाधाएं दूर होती हैं।


4- अगर नौकरी में प्रमोशन की समस्या है तो चींटियों को शनिवार के दिन आटा खिलाएं। ऐसा करने से प्रमोशन में आने वाली बाधा दूर होगी।

5- शनिवार के दिन 11 गरीब और जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाएं और दान करें। ऐसा करने से नौकरी और व्यापार के क्षेत्र में आने वाली समस्या दूर होती हैं।