दूसरे से तुलना कर खुद को हीन न समझें, पढ़ें गुलाब के पत्ते की प्रेरक कथा

दूसरे से तुलना कर खुद को हीन न समझें, पढ़ें गुलाब के पत्ते की प्रेरक कथा

कई बार हम स्वयं की दूसरे से तुलना करके अपने अंदर हीन भावना को जन्म देते हैं, जो अंदर ही अंदर हमें खोखला करने लगती है। हम अपने गुणों से ज्यादा अपने अवगुणों पर ध्यान देने लगते हैं और गुणों को देख ही नहीं पाते। एक समय आता है कि हम सोचने लगते हैं कि हमारा जीवन तो व्यर्थ ही है, लेकिन ऐसा नहीं है। हर व्यक्ति का अपना गुण है, उसका अपना एक महत्व है। दूसरे से तुलना करके अपने महत्व को खत्म होने बचाएं। आइए पढ़ते हैं गुलाब के पत्ते की एक प्रेरक कथा, जिसके महत्व को एक चींटी समझाती है।

पहचानें अपने गुणों को

एक समय की बात है। एक सरोवर के तट पर एक बगीचा था। इसमें तमाम तरह के गुलाब के पौधे थे। लोग वहां आते, तो वे वहां खिले गुलाब के फूलों की तारीफ करते। एक बार एक बहुत सुंदर गुलाब के पौधे के एक पत्ते के भीतर यह विचार जन्मा कि सभी लोग फूल की ही तारीफ करते हैं, पत्ते की कोई तारीफ नहीं करता। इसका मतलब है कि मेरा जीवन व्यर्थ है। पत्ते के अंदर हीन भावना घर करने लगी और वह मुरझाने लगा।

एक दिन बहुत तेज तूफान आया। जितने भी फूल थे, वे पंखुड़ी-पंखुड़ी होकर हवा के साथ न जाने कहां चले गए। चूंकि पत्ता अपनी हीनभावना से मुरझा कर कमजोर पड़ गया था, इसलिए वह भी टूटकर, उड़कर सरोवर में जा पड़ा। पत्ते ने देखा कि सरोवर में एक चींटी भी आकर गिर पड़ी थी और वह अपनी जान बचाने के लिए संघर्ष कर रही थी।

चींटी को थकान से बेदम होते देख पत्ता उसके पास आ गया और उससे कहा-घबराओ मत, तुम मेरी पीठ पर बैठ जाओ। चींटी पत्ते पर बैठ गई और सही-सलामत किनारे तक आ गई। चींटी इतनी कृतज्ञ हो गई कि पत्ते की तारीफ करने लगी। उसने कहा - मुझे तमाम पंखुडि़यां मिलीं, लेकिन किसी ने भी मेरी मदद नहीं की, लेकिन आपने तो मेरी जान बचा ली। आप बहुत ही महान हैं।

यह सुनकर पत्ते की आंखों में आंसू आ गए। वह बोला-धन्यवाद तो मुझे देना चाहिए कि तुम्हारी वजह से मैं अपने गुणों को जान सका। अभी तक तो मैं अपने अवगुणों के बारे में ही सोच रहा था, लेकिन आज अपने गुणों को पहचानने का अवसर मिला।

कथा का सार

किसी से तुलना करके हीन भावना पैदा करने के बजाय सक्रिय होकर अपने भीतर के गुणों को पहचानना चाहिए।


अपने होने वाले पति के लिए सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

अपने होने वाले पति के लिए सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

हमारे ज्योतिष शास्त्र में कई बातें बताई गयी हैं जो भविष्य पहुँचाने वाली हैं। किसी भी व्यक्ति के स्वभाव, व्यक्तित्व और भविष्यफल का अंदाजा उसकी राशि से ही लगाया जाता है। केवल यही नहीं बल्कि हर राशि का एक स्वामी ग्रह भी होता है। आज हम आपको उन राशि वाली लड़कियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने पति के लिए भाग्यशाली मानी जाती है।

सौभाग्यशाली होती हैं ऐसी लडकियां

# वृश्चिक राशि की लड़कियां जिस घर में जाती हैं वहांधन-संपदा की कमी नहीं होती है। केवल यही नहीं बल्कि इस राशि की लड़कियां अपने पति के लिए ईमानदार होती हैं।


# मेष राशि की लड़कियां बुद्धिमान और समझदार होती हैं। इसी के साथ यह अपने आसपास के लोगों को हमेशा खुश रखना चाहती हैं। इस राशि की लड़कियां अपने पति के लिए लकी मानी जाती हैं।

# कुंभ राशि की लड़कियां आत्मविश्वासी और स्वतंत्र विचारों वाली होती हैं। यह अपने ससुराल में खुशियां बिखेरती हैं। केवल यही नहीं बल्कि यह कठिन से कठिन समय में अपने पति का साथ नहीं छोड़ती हैं।


# मीन राशि की लड़कियां भावुक और ख्याल रखने वाली होती हैं। यह अपने पति की खुशियां का ख्याल रखती हैं।