एवोकाडो का सेवन आपके लिए कितना होता हैं लाभकारी, जानिए

एवोकाडो का सेवन आपके लिए कितना होता हैं लाभकारी, जानिए

अगर आपको भी ध्यान लगाने में कठिनाई होती है तो प्रतिदिन एक एवोकाडो को सेवन करने से यह कठिनाई दूर हो सकती है. एक हालिया अध्ययन में पता चला है कि एवोकाडो मोटापे से ग्रस्त

लोगों की दिमागी क्षमता को सुधार सकता है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, मोटे लोग रोजाना अपने आहार में एक एवोकाडो का सेवन करके एकाग्रता में सुधार ला सकते हैं. यह अध्ययन साइकोफिजियोलॉजी नामक जर्नल में प्रकाशित हुआ है. 

मोटे लोगों को बुढ़ापे में होती हैं मानसिक समस्याएं-
शोधकर्ताओं ने बोला कि वो दिन गए जब 'वसायुक्त फल' एवोकाडो का सिर्फ वजन घटाने के लिए ही सेवन किया जाता था. उनके मुताबिक, एक नए अध्ययन में बोला गया है कि यह मोटे लोगों में संज्ञानात्मक कार्यों को बेहतर बनाने में भी मदद करता है. एवोकाडो को मक्खन फल भी बोला जाता है. विटामिन ए, बी, ई, फाइबर, मिनरल्स व प्रोटीन से भरपूर यह फल गहरे हरे रंग का होता है.

इस फल के सेवन से कई शारीरिक व मानसिक समस्याओं में सुधार होता है. यह अध्ययन अमेरिका की इलिनॉइस यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा किया गया. शोधकर्ताओं ने मोटापे से ग्रस्त 84 वयस्कों के रोजाना की आहारशैली का विश्लेषण किया. प्रतिभागियों की 12 सप्ताह तक निगरानी की गई. 

अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता नाइमन खान ने कहा, पिछले शोधों से पता चलता है कि अधिक वजन व मोटापे से ग्रस्त लोगों को बुढ़ापे में जाकर संज्ञानात्मक कमी व मनोभ्रंश का अधिक जोखिम होता है. उन्होंने आगे कहा, हमने यह जानने के लिए अध्ययन किया कि अगर वयस्क आयु में लोग अपने आहार में एवोकाडो को शामिल करते हैं, तो क्या इससे मानसिक स्वास्थ्य को कोई लाभ होता है या नहीं. 

अध्ययन में हुआ ये खुलासा-
एवोकाडो का असर देखने के लिए प्रतिभागियों को दो समूहों में बांटा गया. पहले समूह के आहार में एवोकाडो शामिल नहीं था. जबकि दूसरे समूह को आहार में रोजाना एवोकाडो का सेवन करने के लिए बोला गया. इसमें उन्होंने पाया कि जिन प्रतिभागियों ने अपने रोजाना के आहार में एवोकाडो को शामिल किया, उनके संज्ञानात्मक परीक्षणों के प्रदर्शन में बहुत ज्यादा हद तक सुधार हुआ. 

शोधकर्ताओं ने कहा, एवोकाडो में ल्यूटिन नामक एक आहार तत्व उच्च मात्रा में पाया जाता है, जो मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होता है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, एवोकाडो में उपस्थित पोषक तत्वों से मस्तिष्क में एक विशिष्ट क्रिया होती है, जो काम को विशेष रूप से करने की क्षमता बढ़ाती है या संज्ञानात्मक क्षमताओं को बेहतर करती है. शोधकर्ताओं ने कहा, अध्ययन से पता चलता है कि आहार में थोड़ा परिवर्तन करने से दिमागी क्षमता पर सकारात्मक असर पड़ सकता है. साथ ही अन्य स्वास्थ्य फायदा भी मिल सकते हैं.