हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार जाने स्त्रियों के खुले बालों का मतलब...

हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार जाने स्त्रियों के खुले बालों का मतलब...

हमारे धर्म शास्त्रों में स्त्रियों के बालों के विषय में कहा गया है। शास्त्र में स्त्रियों को अपने बालों को हमेशा बांधकर रखने की सलाह दी गई है। आइये जानते है कि स्त्रियों को अपने बालों को हमेशा बांधकर ही क्यों रखना चाहिए.....

हिन्दू धर्म शास्त्र में कहा गया है कि स्त्रियों को हमेशा अपने बाल बांधकर रखना चाहिये। क्योंकि पुरातन काल में बालों को खुला रखने का मतलब होता है, कि वह स्त्री किसी का शोक मना रही है।

रामायण काल में भी, जब सीता माता का विवाह भगवान राम से हुआ था, तब उनकी माता ने माता सीता के बाल बांधते हुए कहा कि अपने बालों को कभी खुला नहीं छोड़ना क्योंकि बंधे हुए बाल रिश्तों को बांधकर रखते है।

स्त्रियाँ अपने बाल खुले तभी रखती है जब वह एकांत में अपने पति के साथ होती है। शास्त्र में कहा गया है कि स्त्रियों के खुले बाल नकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत होते है, जो उनके घर में क्लेश उत्पन्न करते है।

 इस विषय में ऐसा भी माना जाता है कि यदि स्त्री अपने बालों को रात्री के समय खोलकर सोती है, तो उसके ऊपर नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव अधिक होता है।


शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिवार के दिन करें ये उपाय,दूर होंगी नौकरी पाने की सभी बाधाएं

शनिदेव को न्याय और दण्ड का देवता माना जाता है। मान्यता है कि शनिदेव प्रत्येक व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुरूप फल प्रदान करते हैं। लेकिन कई बार व्यक्ति को कुण्डली में व्याप्त शनिदोष के कारण कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसी कारण कई बार बहुत परिश्रम करने के बाद भी व्यक्ति को नौकरी में सफलता नहीं मिल पाती है। या फिर उसमें कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है। भारतीय ज्योतिष में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं जिनकों अपना कर शनिदोष को शांत किया जा सकता है। इन उपायों को अपना कर नौकरी में आने वाली बाधा को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं शनिदेव को प्रसन्न करने के कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अपनाने से नौकरी में आने वाली बाधाओं को दूर किया जा सकता है...


1- शनिवार के दिन 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। मान्यता है कि हनुमान जी के प्रसन्न होने से शनिदेव स्वयं प्रसन्न होते हैं और सारी दिक्कतें दूर करते हैं।

2- व्रत के शनिवार को सुबह उठकर सरसों के तेल में अपनी छाया देख कर छायादान कर दें। और शाम को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया जलाएं।

3- अगर शनि की कृदृष्टि के कारण नौकरी में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो शनिवार का व्रत रखना लाभदायक होता है। कम से कम 7 शनिवार लगातार शनिवार का व्रत करने से सारी बाधाएं दूर होती हैं।


4- अगर नौकरी में प्रमोशन की समस्या है तो चींटियों को शनिवार के दिन आटा खिलाएं। ऐसा करने से प्रमोशन में आने वाली बाधा दूर होगी।

5- शनिवार के दिन 11 गरीब और जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाएं और दान करें। ऐसा करने से नौकरी और व्यापार के क्षेत्र में आने वाली समस्या दूर होती हैं।