उस्मान खान 2012 में इन मामलों में दोनों को ठहराया गया था दोषी

उस्मान खान 2012 में इन मामलों में दोनों को ठहराया गया था दोषी

ब्रिटेन के लंदन में बीते दिनों हुए आतंकवादी हमले के हमलावर आतंकी उस्मान खान के एक सहयोगी को हिरासत में लिया गया है. इसके साथ ही घटनास्थल को पुलिस की भारी मौजूदगी में सोमवार को यातायात व पैदल यात्रियों के लिए खोल दिया गया.

आतंकी उस्मान खान ने बीते शुक्रवार को लंदन ब्रिज पर चाकू घोंपकर दो लोगों की मर्डर कर दी थी. फर्जी आत्मघाती जैकेट पहने इस हमलावर को बाद में पुलिस ने गोली से उड़ा दिया था.

इस आतंकी के साथी नजम हुसैन को तब हिरासत में लिया गया जब ब्रिटेन की सुरक्षा सेवाओं ने खतरनाक कैदियों के बारे में तात्कालिक समीक्षा की.

हुसैन का परिवार भी पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के उसी गांव से ताल्लुक रखता है जिस गांव से खान का परिवार ताल्लुक रखता है.

2012 में इन मामलों में दोनों को ठहराया गया था दोषी

इन दोनों को लंदन स्टॉक एक्सचेंज में बम रखने व 2012 में पीओके में मदरसे की आड़ में आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर स्थापित करने की योजना बनाने के कृत्य में दोषी पाया गया था. उस्मान व हुसैन दोनों 2011 में पीओके जाने की योजना बना रहे थे, लेकिन सुरक्षाबलों ने दिसंबर 2010 में समन्वित छापेमारी में उन्हें अरैस्ट कर उनके नौ सदस्यीय रैकेट का भंडाफोड़ किया था. आतंकवाद रोधी अधिकारियों ने 34 वर्षीय हुसैन को सप्ताहांत मध्य इंग्लैण्ड के स्टैफोर्डशाइर स्थित स्टोक ऑन ट्रेंट से अरैस्ट किया. उस्मान खान भी यहीं रहता था.

स्टैफोर्डशाइर पुलिस के उप मुख्य कॉन्स्टेबल निक बेकर ने कहा, 'स्टैफोर्डशाइर पुलिस शुक्रवार को हुई लंदन ब्रिज घटना व आतंकवाद के दोषियों की लाइसेंस शर्तों की समीक्षा के तहत वेस्ट मिडलैंड्स काउंटर टेररिज्म यूनिट द्वारा बीती रात एक आदमी को अरैस्ट किए जाने के बाद लोकल लोगों में सुरक्षा की भावना भरने के लिए आसपास के इलाकों में लगातार गश्त कर रही है.'