आज यानी 2 नवंबर को दुनिया कंप्यूटर साक्षरता दिवस, इस मौके पर जानिए इस खोज से जुड़ी जरूरी जानकारी

आज यानी 2 नवंबर को दुनिया कंप्यूटर साक्षरता दिवस, इस मौके पर जानिए इस खोज से जुड़ी जरूरी जानकारी

आज यानी 2 नवंबर को दुनिया कंप्यूटर साक्षरता दिवस है। इस मौके पर हम आपको इस खोज से जुड़ी जरूरी जानकारी देने वाले है। कंप्यूटर का ज्ञान होना आज की युवा पीढ़ी के साथ साथ हर आदमी के लिए आवश्यक है। 

भारत में तेजी से बढ़ती हुई डिजिटल तकनीकी व डिजिटल भविष्य को ध्यान में रखते हुए कंप्यूटर कंप्यूटर का ज्ञान होना अति आवश्यक हो गया है आज लोगों के हाथ में मोबाइल फोन व बढ़िया विशेषता वाले Smart Phone है जिससे कंप्यूटर जैसी खास सुविधाएं हैं।

 

कंप्यूटर का ज्ञान आज की आवश्यकता ही नहीं बल्कि बहुत ज्यादा लाभकारी भी है। कंप्यूटर का ज्ञान एजुकेशन के लिए ही नहीं रोजगार के लिए भी बहुत ज्यादा आवश्यक है। आज के आधुनिक युग में तेजी से बढ़ती हुई तकनीक व डिजिटल क्रांति के कारण कंप्यूटर मानव ज़िंदगी का एक महत्वपूर्ण भाग बन गया है।

 

2001 में लॉन्च किया गया, दुनिया कंप्यूटर साक्षरता दिवस प्रत्येक साल 2 दिसंबर को मनाया जाता है। यह संसार में उपस्थित डिजिटल विभाजन को रोकने का लक्ष्य रखता है। दिवस का उद्देश्य इस 'विभाजन' के बारे में जागरूकता बढ़ाने व वंचित समुदायों के लिए सूचना प्रौद्योगिकी तक पहुंच बढ़ाने का लक्ष्य है। यह विभाजन उन समुदायों के बीच है जिन्हे सूचना प्रौद्योगिकी का फायदा नहीं मिलता एवं जिनके पास कंप्यूटर सरलता से उपलब्ध है।

 

आज की पीढ़ी में कंप्यूटर एक बहुत ही जरूरी किरदार निभाता है। छोटी गणितीय समस्या को हल करने से लेकर संसार के सबसे बड़े मुद्दों पर शोध करने के लिए कंप्यूटर ही सब कुछ करता है। दुनिया कंप्यूटर साक्षरता दिवस को विशेष रूप से घोषित किया जाता है व संसार में डिजिटलीकरण के महत्व को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है। चूंकि आजकल सारा कार्य केवल कंप्यूटर से किया जाता है, लोगों को कंप्यूटर व उसके उपयोगों के बारे में साक्षर करना जरूरी है। इसकी आरंभ 2001 में भारतीय कंपनी NIIT द्वारा कंप्यूटर के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए की गयी। वर्तमान समय में हम एक ऐसे युग में जी रहे हैं जहाँ हम रोजमर्रा के कामों में कंप्यूटर का उपयोग करते हैं ऐसे में इसके प्रयोग के बारे में सभी का जागरूक होना बहुत ही आवश्यक है।